लालू की रैली में दिखे सभी पुराने चेहरे, निशाने पर नीतीश कुमार ही रहे

पटना। राजद की महारैली में कई बड़े चेहरे नजर आए। एक ओर जहां इस रैली में लालू और राबड़ी के अलावा उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी, हेमंत सोरेन नजर आए, तो वहीं इस रैली में जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री गुलाम नबी आजाद भी नजर आए। पटना के गांधी मैदान में आयोजित ‘भाजपा भगाओ, देश बचाओ’ रैली में विपक्षी एकता देखने को मिली। रैली में विपक्ष के 17 दलों ने नेताओं ने शिरकत की।

जैसा कि उम्मीद थी कि इस रैली में सोनिया या राहुल आ सकते हैं। लेकिन रैली में सोनिया गांधी और राहुल गांधी में से कोई नहीं आए। लेकिन फिर भी रैली में सोनिया गांधी की रिकॉर्डेड संदेश को सुनाया गया। रिकॉर्डेड संदेश में सोनिया गांधी ने कहा कि बिहार में जनादेश का अपमान हुआ है। बता दें कि इस महारैली में बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी पहुंची। सभी ने रैली में जमकर बीजेपी और नीतीश कुमार को निशाने पर लिया और आलोचना की।

Read Also: iphone 7 अब हो गया है इतना सस्ता कि अब आप भी इसे अपने पास रख सकते हैं

रैली में जदयू से नाराज चल रहे नेता शरद यादव ने भी हिस्सा लिया। अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि इंकलाब जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि फिर महागठबंधन बनेगा और किसान-मजदूर राज करेगा। उन्होंने कहा कि वो हमेशा से गरीबों, किसानों के साथ खड़े रहे हैं। आज देश खतरे में है। रैली को संबोधित करते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि जो लोग जनता को धोखा देते हैं, उन्हें भगवान धोखा देते हैं। ममता ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि केंद्र की मोदी सरकार लालू यादव को सीबीआई का डर दिखा रही है।

Read Also: अब अभिनेत्री मधुबाला की मुस्कान भी खिलेगी मैडम तुसाड म्यूजियम में

ममता ने आगे कहा कि मोदी सरकार अपने खिलाफ आवाज उठाने वालों को जेल में डाल देती है। शायराना अंदाज में ममता ने कहा कि “मुद्दई लाख चाहे क्या होता है, होता वही है, जो मंजूरे खुदा होता है।” रैली में तेजप्रताप ने संबोधन के दौरान सिर पर पगड़ी बांधी और फिर शंखनाद किया। तीन बार शंख बजाते हुए उन्होंने कहा कि मेरा भाई तेजस्वी अर्जुन है और वो स्वयं कृष्ण के अवतार हैं। तेजप्रताप ने कहा कि वे दोनों भाई मिलकर भाजपा का नाश करेंगे।

Read Also: क्रिकेट के इतिहास में हुआ गजब कारनामा, मात्र 4 गेंदों में बने 92 रन

उधर शरद यादव ने रैली में शामिल होने को लेकर जदयू नाराज हो गया है। जदयू के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव व राष्ट्रीय प्रवक्ता केसी त्यागी ने साफ किया है कि लालू की रैली में शरद यादव और अली अनवर के शामिल होने से पार्टी उनसे नाराज है और उनकी राज्यसभा की सदस्यता खत्म करवाएगी। केसी त्यागी ने एएनआई से बात करते हुए कहा कि लालू की रैली में शामिल होकर शरद यादव ने खुद ही जेडीयू ने अपना नाता तोड़ लिया। उन्होंने कहा कि पार्टी की तरफ से दो दिन पहले ही शरद यादव को पत्र लिखकर आग्रह किया था कि वह राजद की रैली में शामिल नहीं हो। शरद के रैली में शामिल होने पर अब जदयू उनकी राज्यसभा सदस्यता खत्म करवाएगी।

यह भी पढ़ें:

बढ़ेगी सेना की ताकत, 6 जंगी हेलीकॉप्टर खरीद को मिली मंजूरी

सरकार ने ब्लॉक किया 81 लाख आधार कार्ड, ये हैं जांचने का तरीका

क्या आपको पता है कि इन चार समय पर नहीं मापना चाहिए वजन

 


मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्विटरगूगल प्लस पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *