कोरोना संक्रमण: केंद्र की चेतावनी के बाद एक्शन में यूपी सरकार, नोएडा में धारा 144

कोरोना संक्रमण नोएडा

नई दिल्ली। देश के कुछ राज्यों में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच पीएम मोदी राज्यों के मुख्यमंत्रियों संग बैठक में चेतावनी जारी करते हुए सख्त कदम उठाने को कहा था। अब यूपी योगी सरकार ने केंद्र की चेतावनी के बाद एक्शन लेना शुरू कर दिया है। योगी सरकार ने कोरोना संक्रमण को देखते हुए नोएडा में धारा 144 लगा दी है।

कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए यूपी सरकार ने बुधवार शाम को नई गाइडलाइंस जारी कर दी। इस संबंध में राज्य सरकार ने सभी जिलाधिकारियों, मंडलायुक्तों और मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को निर्देश दिया है। राज्य सरकार ने कहा है कि कोरोना महामारी से ज्यादा प्रभावित राज्यों से आने वालों की टेस्टिंग की व्यवस्था की जाए।

यह भी पढ़ें -   बिहार में कोरोना के 144 नए केस मिले, कोरोना मरीजों की संख्या 2300 के पार

मुख्य सचिव ने आदेश में सभी जिलाधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा है कि सर्वाधिक प्रभावित राज्यों से आने वाले लोगों की हवाई अड्डों और रेलवे स्टेशनों पर जांच की व्यवस्था कराई जाए। किसी भी यात्री में कोरोना संक्रमण के लक्षण पाए जाने पर आरटीपीसीआर की जांच के लिए नमूने को प्रयोगशाला में भेजा जाए।

नोएडा में धारा 144 लागू

उत्तर प्रदेश सरकार ने नोएडा में कोरोना संक्रमण को देखते हुए 30 अप्रैल तक धारा 144 लगा दिया है। गौतम बुद्ध नगर में पुलिस ने मंगलवार को 30 अप्रैल तक सीआरपीसी की धारा 144 लागू कर दिया है। नोएडा में धारा 144 लागू होने के बाद जिले में अनधिकृत विरोध प्रदर्शन, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने और कोविड-19 (कोरोना संक्रमण) प्रोटोकॉल को फॉलो नहीं करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें -   इस दिग्गज नेता ने छोड़ा राजद का साथ, हुए जदयू में शामिल

नोएडा पुलिस ने बताया कि कोविड-19 महामारी के बीच होली, गुड फ्राइडे, नवरात्रि, अंबेडकर जयंती, राम नवमी, महावीर जयंती, शब-ए-बारात, हनुमान जयंती जैसे त्योहारों को देखते हुए ऐसा किया गया है।

बता दें कि देश में पिछले 24 घंटों के दौरान 35 से ज्यादा नए कोरोना के मामले सामने आए हैं। केंद्र सरकार ने एक दिन पहले ही कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ राज्यों के हालात पर वर्चुअल मीटिंग की थी।