देश में सबसे बड़ा बैंक घोटाला, ईडी ने जब्त की इतने करोड़ की संपत्ति, सरकार सख्त

नई दिल्ली। देश में अबतक का सबसे बड़ा बैंक घोटाला हुआ है। पंजाब नेशनल बैंक में ये घोटाला हुआ है। हालांकि घोटाले का पर्दाफाश होने के बाद पीएनबी के सीएमडी ने कहा है कि किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा। बता दें कि पीएनबी में नीरव मोदी ने 11360 करोड़ से ज्यादा के घोटाले को अंजाम दिया है।

पढ़ें-  अब अभिनेत्री मधुबाला की मुस्कान भी खिलेगी मैडम तुसाड म्यूजियम में

फिलहाल ईडी अधिकारियों के जरिये ये जानने की कोशिश कर रही है कि इतनी बड़ी रकम का क्या हुआ। ED ने इसके साथ-साथ नीरव मोदी के दफ्तरों, शोरुम और वर्कशॉप पर छापेमारी की है। ED के द्वारा जब्त संपत्ति में सोना, हीरा और कीमती पत्थर शामिल हैं। ईडी ने इस महाघोटाले के बाद विदेश मंत्रालय को खत लिखकर नीरव मोदी और उसकी पत्नी के समेत अन्य आरोपियों के पासपोर्ट को रद्द करने की मांग की है।

यह भी पढ़ें -   आरबीआई ने जारी किया 500 रुपये का नया नोट, जानें क्या है नया

ईडी ने दिल्ली के चाणक्यपुरी और डिफेंस कॉलोनी में मोदी की दो हीरों की दुकानों पर भी छापे मारे। पीएनबी बैंक के मुंबई स्थित शाखा में कुछ अन्य खातों की संलिप्तता पाने जाने पर बड़े स्तर पर कार्रवाई की गई। घटना के बाद पीएनबी बैंक अपने दस अधिकारियों को निलंबित कर दिया है।

पढ़ें- ओम पुरी के जीवन से जुड़ी कुछ खास बातें

बता दें कि घोटाला सामने आने के बाद पीएनबी की तरफ से इस मामले में शिकायत दर्ज कराई गई थी। जिसके बाद ईडी ने नीरव मोदी के कई ठीकानों पर छापेमारी को अंजाम दिया। सीबीआई ने पिछले सप्ताह मोदी और उनकी पत्नी एमी और भाई निशाल व मामा मेहुल चोकसी के खिलाफ मामला दर्ज किया था। इससे पहले PNB ने 29 जनवरी को 280 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी को लेकर इन चारों के खिलाफ शिकायत की थी। यह धोखाधड़ी का मामला साल 2011 का है।

यह भी पढ़ें -   कांग्रेस अधिवेशन में मनमोहन सिंह ने कहा- मोदी सरकार ने देश की अर्थव्यवस्था को किया चौपट

यह भी पढ़ें:

सरकार ने ब्लॉक किया 81 लाख आधार कार्ड, ये है जांचने का तरीका

ग्लैमर की दुनिया की ये महिला कलाकार जिन्होंने खुदकुशी कर ली

ये है अमेरिका का एरिया 51, दफन हैं कई अनसुलझे राज !


मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्विटरगूगल प्लस पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *