ओम पुरी के जीवन से जुड़ी कुछ खास बातें

नई दिल्ली। भारतीय सिनेमा जगत में अपने दमदार अभिनय के बदौलत अपनी अलग छाप छोड़ने वाले अभिनेता ओमपुरी इस दुनिया को छोड़ चुके हैं। दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया था। वे 66 वर्ष के थे। बहुत कम लोगों को उनकी जिन्दगी के बारे में पता है। आइए जानते हैं उनके जीवन से जुड़ी कुछ खास बातें; 

Read Also: ‘मन की बात’ में बोले पीएम, दिमाग से भी जानी चाहिए लाल बत्ती

ओम पुरी अभिनेता नहीं बल्कि वे एक ड्राइवर बनाना चाहते थे। जी हां रेलवे ड्राइवर। 18 अक्तूबर 1950 को जन्में ओमपुरी का जीवन बहुत कष्टों में बीता। उन्हें बहुत ज्यादा आर्थिक तंगी से गुजरना पड़ा। ओम पुरी ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा अपने ननिहाल में पूरी की। उनका ननिहाल पंजाब के पटियाला में है।

यह भी पढ़ें -   सुशांत सिंह राजपूत मरणोपरांत होंगे सम्मानित, नेशनल अवॉर्ड मिल सकता है

Read Also: तीन तलाक पर बोले पीएम, इसके खिलाफ मुस्लिम समाज खुद आगे आएं

अपने परिवार की जरूरतों को पूरा करने के लिए उन्होंने ढावे में नौकरी की। लेकिन कुछ ही दिनों के बाद ढावे के मालिक ने उनपर चोरी का इल्जाम लगाकर निकाल दिया। बचपन में वे जिस मकान में रहते थे उसके पीछे ही एक रेलवे यार्ड था। रात में अक्सर वो घर से भागकर ट्रेन में सोने चले जाते थे। ट्रेन में सोना उन्हें इतना अच्छा लगता था कि उन्होंने सोचा कि वे बड़े होकर रेलवे ड्राइवर बनेंगे।

यह भी पढ़ें -   क्या सुशांत सिंह राजपूत शादीशुदा थे? जानिए उनकी पत्नी के बारे में

Read Also: कश्मीरी युवकों ने चुनाव ड्यूटी से लौट रहे जवान के साथ की बदसलूकी

हालांकि अपने ननिहाल में पढ़ाई के दौरान उन्हें अभिनय से लगाव हो गया और वे अभिनय के क्षेत्र में काम करने की ख्वाहिश लेकर दिल्ली में नेशनल स्कूल ऑफ ड्रॉमा में दाखिला ले लिया। इसके बाद अभिनेता बनने का सपना लेकर उन्होंने पुणे फिल्म संस्थान में दाखिला ले लिया।