15 फरवरी को लगेगा साल का पहला आंशिक सूर्य ग्रहण, इन बातों का रखें ख्याल

नई दिल्ली। चंद्रग्रहण के बाद इस साल का पहला सूर्यग्रहण 15 फरवरी को लग रहा है। ग्रहण का सूतक काल गुरुवार दोपहर से ही शुरू हो जाएगा। मान्यताओं के अनुसार, सूतक के दौरान कोई भी शुभ कार्य नहीं करना चाहिए। सूतक काल में मंदिरों में देवी-देवताओं की प्रतिमा को छूना वर्जित माना गया है। ऐसा करना शुभ नहीं माना जाता है।

पढ़ें: ये हैं बिहार के ऐसे नेता जिनकी राजनीति सबके समझ से परे है

माना जाता है कि इस दौरान घर में कोई भी शुभ कार्य नहीं करना चाहिए। ग्रहण में गर्भवती महिलाओं, बच्चों और बुजुर्गों को घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए। ऐसी धारणा है कि इस समय ग्रहण के दौरान कुछ खतरनाथ किरणें निकलती हैं जो हमारे शरीर पर बुरा असर डालती है। वैज्ञानिक दृष्टिकोण से भी ग्रहण के दौरान सूर्य से अल्फा और गामा किरणें निकलती है।

यह भी पढ़ें -   नागपंचमी के दिन करें विधि-विधान से नाग देवता की पूजा अर्चना

पढ़ें: ये हैं 2000 रुपये से कम के स्मार्टफोन

इस काल में लोगों ग्रहण को नंगी आंखों से देखने से मना किया जाता है। हालांकि यह सूर्यग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा। इसलिए भारत में इसका कोई खास असर नहीं पड़ेगा। लेकिन ज्योतिषियों के मुताबिक, इसका असर राशियों पर जरूर पड़ेगा। यह ग्रहण 15 फरवरी की रात 12 बजकर 25 मिनट पर शुरू होगा और अगले दिन 16 फरवरी की सुबह चार बजे ग्रहण का मोक्ष होगा।

यह भी पढ़ें -   आज है देवोत्थान एकादशी, जानें इसका महत्व और पूजन की विधि

यह भी पढ़ें:

अब अभिनेत्री मधुबाला की मुस्कान भी खिलेगी मैडम तुसाड म्यूजियम में

गुजरात में 12 शेरों के बीच महिला ने दिया बच्चे को जन्म

क्या आपको पता है कि इन चार समय पर नहीं मापना चाहिए वजन


मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्विटरगूगल प्लस पर फॉलो करें

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *