दीपक को इस तरह जलाने से देवी-देवता होते हैं प्रसन्न, जीवन में सफलता मिलती है

दीपक जलाना

ईश्वर की पूजा में दीपक को जलाना महत्वपूर्ण माना जाता है। हिंदू धर्म में पूजा के समय, किसी शुभ कार्य के समय, मंदिर में और घर में किसी भी देवी-देवता के सम्मुख दीपक जलाना शुभ माना जाता है। दीपक घर के अंधकार को दूर करके घर में सुख और शांति का प्रकाश फैलाता है। हिंदू धर्म कहा गया है कि देवी-देवताओं में आस्था रखकर पूजा करने से हर मनोकामना की पूर्ती होती है।

इन देवताओं को इस तरह का दीपक समर्पित करना चाहिए

माँ भगवती को प्रसन्न करने के लिए तिल के तेल का दीपक जलाना चाहिए। तिल तेल के दीपक में मौली की बाती लगाकर जलाने से उत्तम फल प्राप्त होता है।

यह भी पढ़ें -   कौवा को रोटी खिलाने से होते हैं कई लाभ, जानिए इन 10 फायदों को

अपने ईष्ट देवताओं को प्रसन्न करने के लिए दीपक में देसी गाय के घी का दीपक जलाना चाहिए। इससे आपके ईष्ट देव प्रसन्न होते हैं।

यदि आपका कोई शत्रु है तो उसका शमन के लिए साधना करना चाहिए। शत्रु शमन के लिए सरसों एवं चमेली के तेल का दीपक जलाने से कार्य पूर्ण हो जाते हैं।

भगवान सूर्य को 7 बत्तियों वाला दीपक जलाना चाहिए। 7 बत्तियों वाला दीपक जलाने से भगवान सूर्य नारायण जल्द प्रसन्न होते हैं।

माता भगवती दुर्गा को पूजा के वक्त 9 बत्तियों वाला दीपक जलाना चाहिए। माता भगवती दुर्गा के सामने 9 बत्तियों वाला दीपक जलाने से माता प्रसन्न होती हैं और भक्तों को मनोवांछित वर प्रदान करती हैं।

यह भी पढ़ें -   गाय को बासी रोटी या जूठी रोटी खिलाने से क्या-क्या नुकसान होते हैं?

भगवान हनुमान जी और भगवान शिव के सामने 5 बत्तियों वाला दीपक जलाना चाहिए। इससे भगवान शिव जल्दी प्रसन्न होते हैं और हनुमान जी और भगवान शिव को कृपा जल्दी प्राप्त होती है।

जब दीपक जलाएं तो दीपक के नीचे 7 प्रकार के अनाज रखने से व्यक्ति के जीवन में सभी प्रकार के कष्टों से मुक्ति मिलती है। दीपक जलाते समय दीपक के नीचे गेहूं रखने से घर में बरकत होती है और धन धान्य की वृद्धि होती है।

दीपक जलाते समय दीपक के नीचे चावल रखने से माँ लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं। माता लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होने घर में धन की कमी नहीं होती।

यह भी पढ़ें -   चींटियों को आटा खिलाने से क्या होता है? इन चींटियों को माना जाता है शुभ

दीपक के नीचे काले तिल या उड़द रखें तो स्वयं माँ काली भैरवी, शनि, दस, दिक्पाल और क्षेत्रपाल हमारी रक्षा करते हैं। जलते हुए दीपक में गुलाब की पंखुड़ी या लौंग रखने से जीवन सुगंधियों से भर जाता है। हर तरफ खुशहाली रहती है।