अब संस्कृत के इस किताब में लिखा गया, राम ने किया था सीता का अपहरण

नई दिल्ली। भगवान राम को लेकर एक बार फिर विवादित तथ्य छापा गया है। गुजरात के स्कूलों में बच्चों को पुरूषोत्तम राम के बारे में गलत जानकारी दी जा रही है। यहां के स्कूलों में कक्षा 12वीं की संस्कृत की किताब में एक ऐसा तथ्य गलत लिखा गया है जो सभी लोगों को अच्छी तरह से पता है।

दरअसल इस किताब में लिखा गया है कि सीता का अपहरण रावण ने नहीं वरन राम ने किया था। बात आगे बढ़ने पर अधिकारियों ने गलत अनुवाद का हवाला देकर इससे पल्ला झाड़ लिया है। जिस किताब में इस बात का जिक्र किया गया है, उस किताब का नाम है ‘इंट्रोडक्शन टु संस्कृत लिट्रेचर’ है।

आठ घंटे से ज्यादा नींद लेते हैं तो हो जाइए सावधान

एक हिन्दी वेबसाइट में छपी खबर के मुताबिक किताब के पृष्ठ संख्या 106 पर लिखा गया है, ‘यहां कवि ने अपनी मौलिक सोच और विचार से राम के चरित्र की बेहतरीन तस्वीर खींची है। राम द्वारा सीता का अपहरण कर लिए जाने के बाद लक्ष्मण द्वारा राम को दिए गए संदेश का दिल छू जाने वाला वर्णन किया गया है।’ यहां पर राम की जगह रावण लिखा जाना चाहिए था। क्योंकि हर किसी को पता है कि सीता का अपहरण रावण ने किया था।

इस बात गुजरात में शिक्षा बोर्ड के अधिकारी गोल मटोल जवाब दे रहे हैं। हालांकि अधिकारी इसे अनुवाद में गलती बता रहे हैं।

यह भी पढ़ें-

Amazon के इस नए ब्राउजर में कुछ भी सर्च करो, किसी को कुछ भी पता नहीं चलेगा

इजरायल की ये मशीनें, जिसका लोहा पूरी दुनिया मानती है

तो ये है निरहुआ की असली पत्नी, जानें कौन । Who is real wife of Nirahua

सैम मानेकशॉ ने जब इंदिरा गांधी को कहा था, ‘मैं तैयार हूं स्वीटी’


मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्विटरगूगल प्लस पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *