हलाला के आढ़ में मुस्लिम मौलवी बनाते हैं बुर्कानशीं औरतों से नाजायज संबंध

नई दिल्ली। हलाला पर एक न्यूज चैनल के स्टिंग खुलासे के बाद देशभर में इसके खिलाफ विरोध शुरू हो गया है। इस स्टिंग में उन सौदागरों को बेनकाब किया गया है जो हलाला के नाम पर मुस्लिम औरतों के तन और धन दोनों का सुख भोगते हैं। इस स्टिंग में इस बात का खुलासा हुआ है कि काजी और मौलानाओं ने बकायदा इसके लिए एक रेट तय किया हुआ है। इस बीच देशभर में फैले विरोध के स्वर के बीच एक महिला ने इसके बारे में खुलासा किया जो आपको अंदर तक झकझोर देगी।

न्यूज चैनल आजतक पर जारी बहस के बीच बीजेपी नेता, संघ विचारक और मुस्‍लिम धर्मगुरुओं के अलावा पीड़ित महिलाएं शाजिया शान, रुबिना और रिशा खान भी मौजूद थी। बहस के दौरान ही शाजिया खान ने इमाम असोसिएशन के अध्यक्ष मौलाना साजिद रशीदी से पूछा कि एक लड़के को एक हजार रुपये में खरीदकर उसका (शाजिया) हलाला कराया गया था, वो क्या था। इसके जबाव में साजिद रशीदी ने कहा कि ये इस्लाम के तहत हराम है। जिसने भी आपके साथ ऐसा किया है, हम उसे सजा दिलाएंगे।

Read Also: बढ़ेगी सेना की ताकत, 6 जंगी हेलीकॉप्टर खरीद को मिली मंजूरी

कितनी गंदी और शर्मनाक बात है ये। जानिए कि आखिर हलाला होता क्या है? शायद आपने ‘हलाल’ शब्द तो जरूर सुना होगा। जिसमें एक जानवर को अल्लाह का नाम लेकर छुरी चलाकर मार दिया जाता है। लेकिन यहां पर महिलाओं पर छुरी से मारा तो नहीं जाता है लेकिन एक रात के लिए उसके जिस्म को सौदा किया जाता है। अगर कोई तलाकशुदा महिला अपने पति के साथ दोबारा से रहना चाहती है तो उसे किसी अजनबी के साथ शादी करके कम-से-कम एक रात गुजरना पड़ता है।

कितनी घिनौना और शर्मनाक बात है कि दो दंपत्ति जो आपस में फिर से साथ रहना चाहते हैं। वहां एक पति को फिर से साथ रहने के लिए अपनी ही पत्नी को एक रात के लिए किसी गैर के साथ छोड़ना पड़ता है। हालांकि इसके बारे में इस्लाम में लोगों को तो जानकारी है लेकिन इस्लाम से बाहर के लोगों को इस बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है।

Read Also: बदलेगा मुगलसराय स्टेशन का नाम, जाने क्या होगा अगला नाम

बता दें कि आजतक पर दिखाया गया स्टिंग गाजियाबाद का है। स्टिंग में एक अंडर कवर रिपोटर्स ने सबसे पहले मोहम्मद नदीम से मुलाकात की। नदीम मुरादाबाद से सटे लालबाग में मदीना मस्जिद में इमाम है। नदीम से एक काल्पनिक तलाकशुदा मुस्लिम महिला के रिश्तेदार बनकर अंडर कवर रिपोर्टर्स ने बात की। नदीम ने इस महिला के लिए ‘एक रात का शौहर’ बनने के लिए रजामंदी दिखाई। वहीं तीन तलाक और हलाला पर हो रही बहस के बीच मुंबई में भारतीय मुस्लिम महिला आंदोलन (बीएमएमए) की संस्थापक नूरजहां नियाज ने कहा कि हिंदू विवाह कोड के तर्ज पर मुस्लिम विवाह के लिए भी एक विवाह कोड सरकार जारी करे। इससे तीन तलाक और हलाला पर लगाम लगेगा।

Read Also: अब शरीर में लगेंगे चिप, चिप की मदद से कर सकेंगे अपने सारे काम

स्टिंग ऑपरेशन के बाद केंद्रीय विधि और न्याय राज्यमंत्री पी पी चौधरी ने कहा कि कोई भी ऐसी बात जिससे किसी के साथ लैंगिक अन्याय होता हो, व्यक्ति के मौलिक अधिकारों का उल्लंघन है। दूसरी ओर केंद्रीय अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि देश का संविधान जेंडर इक्विटी और सभी को समानता के अधिकार की बात कहता है। जो भी इसका उल्लंघन करता है वो स्वीकार्य नहीं है। वहीं मणिपुर की राज्यपाल नजमा हेपतुल्ला ने कहा कि ये बिल्कुल गलत है और इस्लाम में हलाला जैसी कोई बात नहीं है। नजमा ने कहा कि इस्लाम शरियत के हिसाब से नहीं चलता। उन्होंने कहा कि कुरान और हदीस में निकाह-ए-हलाला जैसी किसी बात का जिक्र नहीं है।

Read Also: क्या आपको पता है कि इन चार समय पर नहीं मापना चाहिए वजन

Read Also: सरकार ने ब्लॉक किया 81 लाख आधार कार्ड, ये है जांचने का तरीका

 

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्विटरगूगल प्लस पर फॉलो करें

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें