गलती से छिपकली मर जाए तो क्या करें? जानिए छिपकली भगाने के तरीके

छिपकली मर जाए तो क्या करें

छिपकली से जुड़े कई सवाल हम सबके मन में होता है। घर में यदि गलती से छिपकली मर जाए तो क्या करना चाहिए? यदि घर में मरी हुई छिपकली दिखे या मिले तो क्या करें? घर में अधिक छिपकली होने से क्या होता है? ऐसे ही कितने ही सवाल होते हैं जिनका जवाब हमें नहीं पता होता है। आइए जानते हैं कि गलती से छिपकली मर जाए तो क्या करें?

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

हम सभी के घरों में छिपकली पाई जाती है। छिपकली का मुख्य भोजन कीड़े-मकोड़े होते हैं। कई बार घर में बहुत ज्यादा छिपकलियां हो जाती है। ऐसे में घर में छिपकली को मारे नहीं बल्कि उसे बाहर भगा दें। घर में यदि छिपकली हो तो उसे मारना नहीं चाहिए। जरूर पढ़ें – छिपकली भगाने के तरीके

यह भी पढ़ें -   चीटियों को भोजन कराने के होते हैं जबरदस्त फायदे, आप भी जानें
गलती से छिपकली मर जाए तो क्या करें?

वैसे तो छिपकली हर दिन दिखाई देता है लेकिन यदि यह दीवाली की रात दिख जाए तो यह शुभ संकेत होता है। छिपकली को माता लक्ष्मी का रूप भी माना जाता है। दीवाली के दिन सफाई करते वक्त अगर मरी हुई छिपकली दिख जाए तो यह अशुभ संकेत होता है।

घर में सफाई करते वक्त छिपकली या छिपकली का बच्चा गलती से मर जाए तो तरंत ही उसका संस्कार कर दें। छिपकली को हिंदू धर्म में मारने से मना किया गया है। छिपकली को मारना पाप माना गया है। इसलिए घर में छिपकली हो तो उसे गलती से भी नहीं मारना चाहिए।

यह भी पढ़ें -   रविवार को बाल कटवाना चाहिए या नहीं, जानिए बाल कटवाने का सही दिन

घर में यदि ज्यादा छिपकली हो गई है तो उसे भगा दें। इसके लिए लहसून का प्रयोग कर सकते हैं। लहसून की सुगंध को छिपकली बर्दास्त नहीं कर पाती है। जहां पर घर में छिपकली आती जाती रहती है, वहां पर लहसून काटकर रख दें। छिपकली धीरे-धीरे आपके घर से गायब हो जाएगी। इसके अलावा छिपकली को भगाने के लिए अंडे का छिलका, नेप्थलीन (फेनाइल) की गोलियों का प्रयोग कर सकते हैं। इससे आपके घर में छिपकली नहीं आएगी।

आपके लिए खास…

यह भी पढ़ें -   पूजा घर में छिपकली का होना शुभ या अशुभ, जानें छिपकली से जुड़े तथ्य
Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Follow us on Google News

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।