दीपक मिश्रा बने नए मुख्य न्यायधीश, पीएम मोदी ने दी बधाई

नई दिल्ली। कई कड़े फैसलों के लिए मशहूर न्यायधीश दीपक मिश्रा सुप्रीम कोर्ट ने नए मुख्य न्यायधीश चुने गए। पीएम मोदी ने मुख्य न्यायधीश चुने जाने पर दीपक मिश्रा को बधाई दी है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उन्हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। इस मौके पर पीएम के अलावा कई गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे। राष्ट्रपति भवन के ऐतिहासिक दरबार हॉल में सोमवार सुबह आयोजित एक समारोह में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने न्यायमूर्ति मिश्रा को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई।

Read Also: आठ घंटे से ज्यादा नींद लेते हैं तो हो जाइए सावधान

न्यायमूर्ति जे एस खेहर के कल (रविवार) सेवानिवृत्त होने के बाद न्यायमूर्ति मिश्रा ने यह पद संभाला है। न्यायमूर्ती दीपक मिश्रा का कार्यकाल तीन अक्टूबर 2018 को समाप्त होगा। इस अवसर पर पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा कि मैं न्यायमूर्ति दीपक मिश्रा को भारत के प्रधान न्यायाधीश के रूप में शपथ लेने पर बधाई देता हूं। मैं उनके बहुत अच्छे और सफल कार्यकाल की कामना करता हूं।

बता दें कि न्यायधीश दीपक मिश्रा कई कड़े फैसलों के लिए मशहूर रहे हैं। जिसमें पहली बार सुप्रीम कोर्ट को आधी रात को खुलवाने सहित कई मामले हैं।

  1. याकूब की फांसी पर आधी रात कोर्ट खुलवाकर की थी सुनवाई
  2. 2008 में 4 साल की बच्ची के दुष्कर्म मामले में दोषी वसंत दुपारे की पुनर्विचार याचिका को खारिज किया।
  3. 2012 में दिल्ली के निर्भया रेप केस में दोषियों को फांसी की सजा सुनाई।
  4. सिनेमा हॉल में राष्ट्रगान बजाने और लोगों को उस दौरान खड़े होने का आदेश दिया।

Read Also:  अब अभिनेत्री मधुबाला की मुस्कान भी खिलेगी मैडम तुसाड म्यूजियम में

इसी तरह के कई ऐताहासिक और कड़े फैसले के लिए दीपक मिश्रा जाने जाते हैं। वर्तमान समय में मुख्य न्यायधीश के तौर पर उनके सामने बाबरी मस्जिद विध्वंश, राम मंदिर सहित कई बड़े मामले हैं। जिनपर उन्हें फैसले देने पड़ सकते हैं। जस्टिस दीपक मिश्रा दिल्ली हाईकोर्ट में मुख्य न्यायाधीश के तौर पर सेवा देने के बाद पदोन्नत होकर 10 अक्तूबर 2011 को उच्चतम न्यायालय पहुंचे थे। 2009 में दीपक मिश्रा पटना हाईकोर्ट के मुख्य न्यायधीश भी रह चुके हैं।

यह भी पढ़ें:

सरकार ने ब्लॉक किया 81 लाख आधार कार्ड, ये है जांचने का तरीका

ग्लैमर की दुनिया की ये महिला कलाकार जिन्होंने खुदकुशी कर ली

ये है अमेरिका का एरिया 51, दफन हैं कई अनसुलझे राज !


मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्विटरगूगल प्लस पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *