क्या तीसरा विश्व युद्ध शुरू हो जाएगा? UNGA के बयान से दुनिया के होश उड़े

तीसरा विश्व युद्ध

दुनिया के कई देशों में लगातार युद्ध के हालात को देखते हुए तीसरी विश्व युद्ध की आशंका को लगातार बल मिल रहा है। हाल ही में रूस यूक्रेन युद्ध, इसराइल हमास युद्ध, पाकिस्तान ईरान संघर्ष और चीन ताइवान के बीच तनाव तथा पश्चिमी एशिया में बढ़ते संघर्ष के खतरों को देखते हुए ऊंगा के आधिकारिक बयान ने दुनिया के होश उड़ा दिए हैं।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

संयुक्त राष्ट्र महासभा ने पहली बार कहा है कि दुनिया के मौजूदा हालात को देखते हुए ऐसा लगता है कि तीसरा विश्व युद्ध के आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता। बुधवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा के अध्यक्ष फ्रांसिस ने कहा कि लाल सागर में स्थिति बेहद ही परेशान करने वाली है और इसके बिगड़ने की आशंका बढ़ती जा रही है।

यह भी पढ़ें -   डोनाल्ड ट्रंप ने NSA जॉन बोल्टन को किया बर्खास्त, सलाह से थे असहमत

मीडिया से बातचीत में फ्रांसिस ने संघर्ष के प्रति क्षेत्रीकरण को लेकर आगाह किया है और तीसरे विश्व युद्ध की आशंका को खारिज नहीं किया है। बता दें कि अभी दुनिया के कई देशों के बीच युद्ध चल रहा है। इस युद्ध की भयावह तस्वीर देखने को मिल रही है। यूक्रेन और रूस के बीच युद्ध के बाद दुनिया के कई देशों की स्थिति बेहद ही खराब हो गई है।

अफ्रीकी महाद्वीप के कई देशों की आर्थिक स्थिति बहुत ही दयनीय हो गई है। फ्रांसिस ने गाजा में संघर्ष के लिए दो राष्ट्र समाधान के लिए भारत के आह्वान की सराहना की और कहा कि दिल्ली अत्यधिक जिम्मेदार, व्यवहारिक, समझदार और आवश्यक है। उन्होंने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि लाल सागर में होटियों द्वारा की जा रही इस कार्रवाई में तीसरे पक्ष मदद कर रहे हैं। यह बहुत ही हानिकारक और खतरनाक है।

यह भी पढ़ें -   लॉकडाउन पर चल रही है तैयारी, क्या अब लॉकडाउन-4 की है बारी?

यूएनएससी में स्थाई सदस्यता के लिए भारतीय पक्ष की सराहना

की संयुक्त राष्ट्र के शीर्ष राजनीतिक ने विदेश मंत्री एस जयशंकर के साथ व्यापक बातचीत की और गज की स्थिति, यूक्रेन में संघर्ष और संयुक्त राष्ट्र में भारत की भूमिका तथा संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की स्थाई सदस्यता के लिए सुधार के लिए जोर दिया।

भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर कहा कि आज दोपहर नई दिल्ली में संयुक्त राष्ट्र महासभा के अध्यक्ष दिनेश फ्रांसिस का स्वागत करते हुए बहुत खुशी हो रही है। हमारी जी20 अध्यक्षता और वॉइस ऑफ ग्लोबल साउथ समिट्स के लिए उनकी सकारात्मक भावनाएं उल्लेखनीय थीं। उन्होंने बहू पक्ष बात को मजबूत किया है।

यह भी पढ़ें -   कोरोना वायरस: चीन में मरने वालों की संख्या 131 पहुंची, 840 लोग संक्रमित

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं में विशेष कर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में तत्काल सुधार की आवश्यकता पर उनके रुख की सराहना की। गजा की स्थिति पर फ्रांसिस ने कहा कि यह बहुत चिंताजनक है और शांति ही एकमात्र रास्ता है।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Follow us on Google News

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।