वेंकैया नायडू बने देश के 13वें उपराष्ट्रपति, मिले 68 फीसदी वोट

Venkaiah Naidu becomes 13th Vice-President

नई दिल्ली। राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद के राष्ट्रपति बनने के बाद उपराष्ट्रपति चुनाव में भी एनडीए ने बाजी मार ली है। एनडीए उम्मीदवार वेंकैया नायडू को 68 फीसदी वोट हासिल हुए। जबकि विपक्ष के उम्मीदवार गोपालकृष्ण गांधी को 32 फीसदी वोट मिले। जीत के बाद बीजेपी ने कहा कि विपक्षी पार्टियों के करीब 24 सांसदों ने एनडीए उम्मीदवार नायडू को वोट दिया है।

Read Also: चीनी सेना ने भारत को दी धमकी, पीछे हटे भारत, अब सब्र टूट रहा

उपराष्ट्रपति चुनाव में जहां वेंकैया नायडू को 516 वोट मिले वहीं विपक्ष के उम्मीदवार गोपालकृष्ण गांधी को 244 वोट मिले। विपक्ष को इस बात की चिंता है कि उन्हें 40 सांसदों ने वोट देने की बात कही थी। लेकिन आंकड़ा कुछ और ही कह रहा है। हालांकि गोपालकृष्ण गांधी को राष्ट्रपति उम्मीदवार मीरा कुमार से ज्यादा वोट हासिल हुए हैं। मीरा कुमार को 225 वोट मिले थे जबकि गोपालकृष्ण गांधी को 244 वोट मिले।

यह भी पढ़ें -   Motor Vehicle Act 2019: गाड़ी चलाते वक्त रखें इन बातों का ध्यान, नहीं कटेगा चालान

राष्ट्रपति चुनाव में जदयू और बीजेडी ने बीजेपी का साथ दिया था, तो उपराष्ट्रपति चुनाव में इन दलों ने विपक्ष का साथ दिया। उपराष्ट्रपति चुनाव में कुल वोटों में 11 वोटों को अमान्य करार दिया गया। चुनाव में 14 सदस्यों ने अलग-अलग कारणों से भाग नहीं लिया था। इनमें से तृणमूल कांग्रेस के चार, भाजपा, कांग्रेस एवं आईयूएमएल के दो तथा राकांपा एवं पीएमके एक-एक सदस्य शामिल हैं।

Read Also: क्या आप सोशल साइट पर अपनी भावनाएं जाहिर करने से डरते हैं तो ये खबर आपके लिए है

यह भी पढ़ें -   उड़ान भरने के महज 15 मिनट बाद क्रैश हुआ वायुसेना का फाइटर विमान

इस जीत के साथ ही वेंकैया नायडू देश के 13वें उपराष्ट्रपति चुने गए। इस चुनाव में जीत के साथ ही आरएसएस का परचम शीर्ष पदों पर देखा जा सकता है। देश के तीन शीर्ष संवैधानिक पदों पर आरएसएस पृष्ठभूमि के लोग काबिज हैं। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। हालांकि इन तीनों ही नेताओं का जीवन अत्यंत संघर्षपूर्ण और सादगी भरा रहा है। तीनों ही एक सामान्य भारतीय परिवार की पृष्ठभूमि से आए हैं। संघ के इन तीनों ही नेताओं की छवि पाक-साफ मानी जाती है। इन सभी पर कभी भी पूरे जीवन में अभी तक भ्रष्टाचार का आरोप नहीं लगा है।

यह भी पढ़ें -   प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के भारत दौरे पर पाक प्रायोजित आतंकवाद रहेगा प्रमुख मुद्दा

 

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्विटरगूगल प्लस पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *