सचिन पायलट को कांग्रेस से झटका, डिप्टी सीएम पद से हटाए गए

सचिन पायलट

राजस्थान के सियासी उठा-पटक के बीच कांग्रेस विधायक दल की बैठक समाप्त हो गयी है। बता दें कि इस बैठक में राजस्थान के बागी विधायक और सचिन पायलट के समर्थक शामिल नहीं हुए। इस बीच सचिन पायलट को डिप्टी सीएम पद से हटा दिया गया है।

राजस्थान में इस सियासी ड्रामे के बाद सचिन पायलट की जगह अब गोविंद सिंह को राजस्थान का नया अध्यक्ष नियुक्त किया गया है। यह फैसला कांग्रेस के विधायक दल की बैठक में लिया गया। इसकी जानकारी कांग्रेस राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने दी है।

यह भी पढ़ें -   बीजेपी ने कराई 106 विधायकों की परेड, गवर्नर बोले- संविधान के तहत होगी कार्रवाई

दरअसल, सचिन पायलट और उनके समर्थक विधायक दल की बैठक में नहीं पहुंचे थे। बैठक में कांग्रेस और निर्दलीय कुल 102 विधायक पहुंचे और उन्होंने एकमत से मांग की थी कि सचिन पायलट और उनके समर्थकों को पार्टी से निकाल दिया जाए।

गौरतलब है कि राजस्थान के सियासी संकट के पीछे माना जा रहा था कि ज्योतिरादित्य सिंधिया की तरह अब सचिन पायलट भी बीजेपी में शामिल हो सकते हैं, लेकिन अब खबर यह भी आ रही है कि सचिन बीजेपी में नहीं जाना चाहते हैं। उनका कहना है कि अगर उन्हें बीजेपी में शामिल होना होता, तो अभी तक जा चुके होते। माना जा रहा है कि सचिन अपने समर्थकों के साथ मिलकर अपनी नई राजनीतिक पार्टी बना सकते हैं।

यह भी पढ़ें -   मायावती ने बीजेपी को सांपनाथ और कांग्रेस को नागनाथ कहा, गठबंधन से किया इंकार

बता दें कि हाल ही में कांग्रेस के ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी मध्यप्रदेश में कांग्रेस से बगावत करके बीजेपी ज्वाइन कर लिया था। जिसके बाद मध्यप्रदेश में कांग्रेस की कमलनाथ सरकार अल्पमत में आ गई थी। बाद में बहुमत का आंकड़ा साबित नहीं होने पाने के कारण कमलनाथ सरकार गिर गई थी। मध्यप्रदेश में फिलहाल बीजेपी की सरकार है। ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक नेताओं को भी शिवराज सिंह चौहान सरकार में जगह दी गई है।