सीएम योगी ने परिवार को लिखा पत्र, अंतिम यात्रा में नहीं होंगे शामिल

सीएम योगी

लखनऊ। सीएम योगी ने अपने पिता आनंद सिंह बिष्ट के अंतिम यात्रा में शामिल नहीं होंगे। देश में कोरोना वायरस और लॉकडाउन के मद्देनजर सीएम योगी ने यह फैसला लिया है। इस संबंध में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने परिवार को एक पत्र भी लिखा है।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

पत्र में सीएम योगी ने लिखा है, “अपने पूज्य पिताजी के कैलाशवासी होने पर मुझे भारी दुख एवं शोक है। वे मेरे पूर्वाश्रम के जन्मदाता हैं। जीवन में ईमानदारी, कठोर परिश्रम एवं निस्वार्थ भाव से लोक मंगल के लिए समर्पित भाव के साथ कार्य करने का संस्कार बचपन में उन्होंने मुझे दिया।”

यह भी पढ़ें -   शिया वक्फ बोर्ड ने कहा, विवादित जगह पर बने राममंदिर, मस्जिद थोड़ी दूर पर

सीएम योगी ने आगे लिखा, “अन्तिम क्षणों में उनके दर्शन की हार्दिक इच्छा थी, परन्तु वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के खिलाफ देश की लड़ाई को उत्तर प्रदेश की 23 करोड़ जनता के हित में आगे बढ़ाने का कर्तव्यबोध के कारण मैं न कर सका। कल 21 अप्रैल को अन्तिम संस्कार के कार्यक्रम में कोरोना को परास्त करने की रणनीति और लॉकडाउन के कारण भाग नहीं ले पा रहा हूं।”

सीएम योगी ने इसके साथ ही अपनी माँ और पूर्वाश्रम के अन्य सदस्यों से भी लॉकडाउन का पालन करने की सलाह दी। योगी आदित्यनाथ ने कहा, “पूजनीया माँ, पूर्वाश्रम से जुड़े सबी सदस्यों से भी अपील है कि वे लॉकडाउन का पालन करते हुए कम से कम लोग अंतिम संस्कार में शामिल रहें। पूज्य पिताजी की स्मृतियों को कोटि-कोटि नमन करते हुए उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित कर रहा हूं। लॉकडाउन के बाद दर्शनार्थ आऊंगा।”

यह भी पढ़ें -   सिग्नेचर ब्रिज पर बड़ा हादसा, सेल्फी के चक्कर में गई दो बाइक सवार की जान

सोमवार 10 बजकर 40 मिनट पर ली अंतिम सांस

बता दें कि सीएम योगी के पिता आनंद सिंह बिष्ट का सोमवार को 10:40 बजे दिल्ली एम्स में निधन हो गया। वे 89 साल के थे। आनंद सिंह बिष्ट को किडनी की बिमारी थी। रविवार को उनका तबीयत अचानक बिगड़ गया था। जिसके बाद उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था। आनंद सिंह बिष्ट का रोजाना डायलिसिस किया जाता था।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Follow us on Google News

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।