अभिनेत्री ममता कुलकर्णी बर्थडे स्पेशल: क्या हुआ था 20 साल पहले अभिनेत्री के साथ?

अभिनेत्री ममता कुलकर्णी

मुंबई। बॉलीवुड में कई ऐसी हस्तियां हैं जो फिल्म इंडस्ट्री में अपनी पहचान कायम कर चुकी हैं। जो बॉलीवुड की चकाचौंध से गायब तो हो गए हैं लेकिन दर्शक आज भी उन्हें भूल नहीं पाए हैं। ऐसा ही एक नाम है अभिनेत्री ममता कुलकर्णी का। अभिनेत्री ममता कुलकर्णी का जन्म 20 अप्रैल 1972 को मुंबई के एक मराठी परिवार में हुआ था।

अभिनेत्री ममता कुलकर्णी 90 के दशक में आशिक आवारा और करण अर्जुन जैसी फिल्मों में काम कर चुकी हैं। ममता कुलकर्णी अपने फिल्मों से कहीं ज्यादा विवादों की वजह से सुर्खियों में रही। 1993 में स्टारडस्ट मैगजीन में टॉपलेस होने से लेकर इस्लाम धर्म अपनाने तक,  ममता और विवादों का गहरा नाता रहा है।

अभिनेत्री ममता कुलकर्णी ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत सन् 1992 में फिल्म तिरंगा से की थी। ममता ने लगातार बॉलीवुड को कई हिट फिल्में दी, लेकिन साल 2000 के बाद ममता अचानक फिल्म इंडस्ट्री से गायब हो गई। इसके पीछे की वजह बेहद की चौकाने वाली है। कहा जाता है कि ममता कुलकर्णी ड्रग्स माफिया विकी गोस्वामी से प्यार करती थी। उस दौरान खबर आई थी कि विकी जेल में बंद था। उन्हें छुड़ाने के लिए ममता ने बॉलीवुड को अलविदा कह दिया और दुबई जाकर बस गई थी।

यह भी पढ़ें -   'ठग्स ऑफ हिन्दोस्तान' धमाकेदार ओपनिंग के लिए तैयार है
अभिनेत्री ममता कुलकर्णी
ममता कुलकर्णी

एक अंग्रेजी अखबार में छपी खबर के मुताबिक, मई 2016 में दुबई के जेल में विकी को लगा कि अगर वो इस्लाम धर्म को कबूल ले तो कानूनी रूप में उसकी सजा कम हो जाएगी। ऐसे में कानून के शिकंजे से बचने के लिए विकी ने इस्लाम धर्म को कुबूल कर लिया।

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक, कहा जाता है कि अभिनेत्री ममता कुलकर्णी ने विकी से शादी रचाई और वह भी ममता कुलकर्णी से आयशा बेगम बन गई। विकी ने इस्लाम धर्म अपनाने के बाद अपना नाम यूसुफ अहमद रखा और फिर 15 साल जेल में रहने के बाद विकी गोस्वामी की 10 साल की सजा कम कर दी गई।

यह भी पढ़ें -   अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी 44 की उम्र में फिर से बनी माँ, शेयर की बेटी का फोटो

जेल से छूटने के बाद विकी गोस्वामी ने 2013 में ममता से शादी की और अभी दोनों केन्या के मोम्बासा में रहते हैं। हालांकि अभिनेत्री ममता कुलकर्णी ने अपनी खबरों को हमेशा ही एक अफवाह बताया। ममता कुलकर्णी ने फिल्मी दुनिया को अलविदा कहते हुए कहा था कि कुछ लोग दुनिया के कामों के लिए पैदा होते हैं जबकि कुछ लोग ईश्वर के लिए पैदा होते हैं और मैं ईश्वर के लिए पैदा हुई हूँ।