चीन ने फिर दिया धमकी, भारत नहीं हटा पीछे तो होगा युद्ध

china-threatens-india-get-back-war

नई दिल्ली। चीन लगातार भारत पर दवाब बनाने की कोशिश कर रहा है। चीन ने फिर एकबार भारत को धमकी देने की जुर्रत की है। इस बार चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने लिखा है कि यदि भारत डोकलाम से पीछे नहीं हटता है तो युद्ध होगा। ग्लोबल टाइम्स ने लिखा है कि भारत सरकार को भारतीय सुरक्षा एजेंसियां गुमराह कर रही है। अखबार ने 1962 के युद्ध का हवाला देते हुए लिखा है कि उस वक्त भी नेहरू सरकार को सुरक्षा एजेंसियों ने गुमराह किया था।

Read Also: जदयू नेता ने पार्टी के खिलाफ जाकर किया अहमद पटेल को वोट, बर्खास्त

यह भी पढ़ें -   विवाद के बीच चीन की धमकी, जमीन की हिफाजत के लिए जंग भी मंजूर

चीनी मीडिया ने साफ कहा कि ये भारत के लिए आखिरी चेतावनी है कि वो अपने सैनिकों को वापस बुलाए, क्योंकि चीन फिर से वो कदम उठा सकता है, जिसकी भारतीय एजेंसियों को उम्मीद नहीं है। ग्लोबल टाइम्स ने भारतीय मीडिया के लेख का हवाला देते हुए कहा कि भारतीय एजेंसियों ने ये बात तय कर ली है कि चीन भारत पर हमले या सीमित हमले का रिस्क नहीं उठाएगा।  ये बात रही है कि चीन युद्ध नहीं चाहता, पर अगर चीनी जमीन पर भारतीय सैनिक मौजूद रहे, तो मामला दूसरा हो सकता है।

Read Also: फिल्पकार्ट सेल: हो जाइए तैयार, इलेक्ट्रॉनिक समानों पर भारी छूट के लिए

यह भी पढ़ें -   डोकलम विवाद: सिक्किम सीमा पर भारत ने बढ़ायी सैनिकों की तैनाती

ग्लोबल टाइम्स ने अपनी रिपोर्ट में लिखा है कि भारत ने 1962 में भी चीन को लगातार उकसाने की कोशिश की थी। लेकिन बता दें कि खुद चीन ने उस चोरी-छिपे आक्रमण किया था। अखबार ने आगे लिखा है कि 1962 के बाद 55 साल बीत चुके हैं लेकिन भारत की सोच अभी भी नहीं बदली है। ग्लोबल टाइम्स लिखता है कि कोई भी सरकार अपने मजबूत पड़ोसी देश से उलझना नहीं चाहती। खुद भारत सरकार भी मान चुकी है कि विवादित हिस्सा चीन और भूटान के बीच विवादित है।

Read Also: कश्मीर में घुसपैठ की कोशिश नाकाम, मुठभेड़ में 5 आतंकी ढेर

यह भी पढ़ें -   जमीन से हवा में मार करने वाली मिसाइल का सफल परीक्षण

ग्लोबल टाइम्स ने आगे लिखा कि भारतीय लोगों को पता है कि भारत चीन से युद्ध नहीं जीत सकता है। लेकिन फिर वो ये सोचकर चल रहे हैं चीन भारत पर हमला नहीं करेगा। बता दें कि भारतीय सैनिकों ने चीनी सेना को सिक्किम के डोकलाम सेक्टर में एक सड़क बनाने से रोक दिया जिसके बाद इलाके में 50 दिनों से भारत और चीन के बीच गतिरोध चल रहा है।

 

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्विटरगूगल प्लस पर फॉलो करें