चीन ने फिर दिखाई दादागिरी, इस जगह पर ठोका दावा

नई दिल्ली। चीन अपने चालबाजी से बाज नहीं आ रहा है। अब फिर से चीन ने एक भारतीय क्षेत्र पर अपना दावा किया है। इसको लेकर भारत और चीन के बीच टकराव की स्थिति उत्पन्न हो गई है। दरअसल सिक्कम के चुंबी घाटी के पास चीन सड़क निर्माण कर रहा है। जिसको लेकर भारत ने आपत्ति जताई है। चुंबी घाटी भारत, भूटान और चीन का चौराहा है।

Read Also: गुजरात में 12 शेरों के बीच महिला ने दिया बच्चे को जन्म

भारत और चीन के बीच के 2 अहम दर्रे, नाथू-ला और जेलप-ला यहां खुलते हैं। इस संकरी घाटी में सैन्य गतिविधियां बहुत मुश्किल हैं। चीन पिछले कुछ दिनों से अपनी सक्रियता बढ़ाते हुए इससे सटे इलाकों में सड़क निर्माण करा रहा है। भारत के सिलीगुड़ी गलियारे से यह 50 किलोमीटर दूर है।

यह भी पढ़ें -   पूर्व पीएम के निधन की उड़ी अपवाह, सोशल मीडिया पर लोग देने लगे श्रद्धांजलि

Read Also: क्या आपको पता है कि इन चार समय पर नहीं मापना चाहिए वजन

कुछ जगहों पर यह गलियारा बेहद सकड़ा है और मात्र 17 किलोमीटर चौड़ा है। इसी गलियारे से भारत के उत्तरपूर्वी राज्य जुड़े हुए हैं। पतले आकार और संवेदनशीलता को ध्यान में रखते हुए ही इस गलियारे को भारत का ‘चिकन्स नेक’ कहते हैं। चुंबी घाटी में निर्माणकार्य से भारत के आतंरिक सुरक्षा पर खतरा उत्पन्न हो सकता है।

यह भी पढ़ें -   डोकलम विवाद: सिक्किम सीमा पर भारत ने बढ़ायी सैनिकों की तैनाती

Read Also: तो ये है निरहुआ की असली पत्नी, जानें कौन

यही कारण है कि भारत ने यहां सड़क निर्माण पर आपत्ति जताते हुए कहा है कि यहां सड़क बनाने की योजना पेइचिंग की सामरिक रणनीति का हिस्सा है। बता दें कि 8 जून को चीनी सेना भारतीय सीमा में घुसकर यहां पर बने एक बैंकर को गिरा दिया। जिसका सेना ने विरोध किया। जिसके बाद से ही सिक्कम सीमा पर भारत और चीन के बीच विवाद की स्थिति है।

यह भी पढ़ें -   Motor Vehicle Act 2019: गाड़ी चलाते वक्त रखें इन बातों का ध्यान, नहीं कटेगा चालान

यहां प्रदर्शित चित्रों को अलग-अलग जगहों से लिया जाता है। इसपर हम दावा नहीं करते। इनपर इनके मालिकों का अपना कॉपीराइट है।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating / 5. Vote count:

No votes so far! Be the first to rate this post.

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *