पाकिस्तान में चीनी दूतावास पर हमला, 3 हमलावर सहित 2 पुलिसकर्मी की मौत

नई दिल्ली। पाकिस्तान में चीनी दूतावास पर हमला हो गया। हमले में 3 हमलावर और दो पुलिसकर्मी को मौत हो गई। स्थानीय मीडिया के मुताबिक, हमला सुबह करीब 9:15 पर हुआ। बताया जा रहा है कि कुछ लोगों ने दूतावास में घुुसने की कोशिश की। रोकने पर उन्होंने सुरक्षा गार्ड पर अंधाधुध गोलियां चलानी शुरू कर दी।

खबरों के मुताबिक, हमलावर ने दूतावास के गेट के पास एक गोला भी फेंका। पुलिस अधिकारी अमीर शेख के मुताबिक, अभी तक मुठभेड़ में 3 हमलावर और दो पुलिसकर्मी को मौत हो चुकी है। हमले के बाद इलाके की नाकेबंदी कर दी गई है। दूतावास की तरफ जाने वाले सभी रास्तों को बंद कर दिया गया है।

हालांकि दूतावास के बाहर लोगों के हताहत होने की कोई सूचना नहीं है। फिलहाल ऑपरेशन खत्म हो चुका है। सुरक्षा बल और पुलिस इलाके में तलाशी अभियान चला रखी है।

यह भी पढ़ें -   भारत के इस हथियार को देखकर चीन और पाक के उड़े होश

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इस हमले की जिम्मेदारी अलगाववादी संगठन बलोच लिबरेशन आर्मी ने हमले की ज़िम्मेदारी ली है। अलगाववादी संगठन का कहना है कि उन्होंने चीन को सबक  सिखाने के मकसद से ऐसा किया है। संगठन ने सोशल मीडिया पर इस बारे में जानकारी भी दी है और माना है कि चीनी दूतावास पर हमले में उनके तीन लोग मारे गए हैं।

 

 

बताया जा रहा है कि जिस वक्त हमला हुआ दूतावास में करीब 21 लोग मौजूद थे। जिसमें 6 चीनी नागरिक और बाकि अन्य दूतावास के कर्मचारी थे।

यह भी पढ़ें -   संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत निकी हेली ने दिया इस्तीफा

माना जा रहा है कि पाकिस्तान की चीन के साथ बढ़ती नजदीकियां भी इस हमले की एक वजह हो सकती है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने मीडिया से बातचीत करते हुए इस ओर इशारा किया। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान और चीन के बीच की दोस्ती कई लोगों की आंखों में खटकती है लेकिन कोई कितनी भी कोशिश कर ले यह दोस्ती जारी रहेगी।

वहीं चीनी दूतावास में हुए हमले पर पाकिस्तानी पीएम इमरान खान ने दुख जताया है। उन्होंने कहा कि कराची पुलिस और रेंजर्स ने असाधारण साहस का प्रदर्शन किया है। उन्हें देश को शहीदों और उनके सहयोगियों की बहादुरी पर गर्व है। प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि यह शुद्ध रूप से चीन के आर्थिक और रणनीतिक सहयोग के खिलाफ षड्यंत्र है लेकिन ऐसी घटनाएं पाकिस्तान और चीन के संबंधों को कमजोर नहीं कर सकती हैं।

यह भी पढ़ें -   कोरोना वायरस: कोरोना से मरने वालों की संख्या 3000 के पार, लूव्र संग्रहालय बंद

चीनी दूतावास पर हुए इस हमले का भारत ने कड़ी निंदा की है। भारत की तरफ जारी बयान में कहा गया है कि भारत हमले में मारे गए लोगों के प्रति संवेदना प्रकट करता है। इस जघन्य अपराध के लिए जिम्मेदार अपराधियों को शीघ्रता से न्याय के कठघरे में लाया जाना चाहिए।