मणिशंकर का पीएम पर बड़ा हमला, कहा- सोचा नहीं था मुसलमानों को पिल्ले बोलने वाला पीेएम बन जाएगा

मणिशंकर-का-पीएम-पर-बड़ा-हम

नई दिल्ली। कांग्रेस के निलंबित नेता मणिशंकर अय्यर ने फिर से पीएम मोदी को लेकर विवादित बयान दिया है। अय्यर के इस बयान के बाद राजनीतिक गलियारों में बवाल मचना तय है। बता दें कि इससे पहले भी अय्यर ने गुजरात विधानसभा के वक्त पीएम मोदी के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया था।

बाद में इस मामले में विवाद ज्यादा बढ़ता देख कांग्रेस ने अय्यर को पार्टी से निलंबित कर दिया था। अय्यर के इस बयान को बाद में पीएम मोदी ने पूरे गुजरात में चुनाव के दौरान इस्तेमाल किया था।

ताजा मामला 2002 के दंगों को लेकर है। मणिशंकर अय्यर ने कहा कि मैंने सोचा नहीं था कि 2014 से एक सीएम जो मुसलमानों को पिल्ला समझता था, वह पीएम बनेगा। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि जब एक पिल्ला भी आपकी गाड़ी के नीचे आ जाए तो दिल में चोट लगती है।

यह भी पढ़ें -   Happy Teachers Day 2019: जानिए देश के पहले उपराष्ट्रपति की कुछ खास बातें

जानिए… क्या है खासियत दिल्ली के कनॉट प्लेस में

उन्होंने पीएम मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि जो दंगों के बाद 24 दिनों तक मुस्लिमों के कैंप में नहीं गया। अहमदाबाद के मस्जिद में उस दिन पहुंचा जब पीएम वायपेयी आए थे। उस दिन जाना मजबूरी थी। उन्होंने कहा कि मैंने सोचा नहीं था कि ऐसा व्यक्ति देश का प्रधानमंत्री बन सकता है।

गौरतलब है कि यह पहली बार नहीं है जब मणिशंकर अय्यर ने पीएम मोदी के खिलाफ इस तरह के शब्दों का इस्तेमाल किया हो। इससे पहले भी वो गुजरात चुनाव के दौरान पीएम मोदी पर अभद्र टिप्पणी कर चुके हैं।

यह भी पढ़ें -   जानिए क्या कहा पीएम मोदी ने कश्मीर और कश्मीरी को लेकर

उनकी उस टिप्पणी पर बवाल मचने के बाद कांग्रेस ने उन्हें पार्टी से निलंबित कर दिया था। अय्यर ने 2014 चुनाव से पहले तंज कसते हुए कहा था कि वह कभी प्रधानमंत्री नहीं बन सकते। अगर वह चाहें तो कांग्रेस वर्किंग कमेटी में आकर चाय बेच सकते हैं।


मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्विटरगूगल प्लस पर फॉलो करें

यह भी पढ़ें -   आधार पर 'सुप्रीम' फैसला जान लीजिये, कहां जरूरी और कहां जरूरी नहीं

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating / 5. Vote count:

No votes so far! Be the first to rate this post.

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *