तीन तलाक पर बोले पीएम, इसके खिलाफ मुस्लिम समाज खुद आगे आएं

नई दिल्ली। देशभर में तीन तलाक को लेकर हो-हल्ला मचा है। हर तरफ इसकी चर्चा है। कोई इसे खत्म करने के पक्ष में है तो कोई अपनी दुकान बंद होने के डर से इसे बंद करने के खिलाफ है। लेकिन वहीं पीएम मोदी ने शनिवार को बासवा जयंती पर लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि इस मुद्दे को राजनीतिक चश्मे से नहीं देखा जाना चाहिए।

पीएम मोदी ने मुस्लिम समाज से की अपील

पीएम मोदी ने मुस्लिम समाज के लोगों से अपील करते हुए कहा कि इसके लिए वो खुद इसके खिलाफ आगे आएं। लोगों को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि मुस्लिम समाज के पढ़े-लिखे और समझदार लोग आगे आएंगे और मुस्लिम समाज की बेटियों के साथ हो रहे इस अन्याय से उसे राहत दिलाएंगे।

पीएम मोदी को राजाराम मोहन राय याद आए

पीएम मोदी ने राजाराम मोहन राय को याद करते हुए कहा कि उस समय जब उन्होंने विधवा विवाह की बात की होगी तो कितनी आलोचना उस समय उन्हें सहना पड़ा होगा। लेकिन वे अड़े रहे। इसलिए मैं कभी-कभी सोचता हूं कि भारत की महान परंपरा को देखते हुए मेरे मन में आशा का संचार होता है कि एक दिन देश के भीतर से ही ताकतवर लोग निकलते हैं और समाज की अप्रसांगिक परंपराओं को तोरते हैं और आधुनिक व्यवस्थाओं को विकसित करते हैं।

इस मुद्दे पर जल्द ही सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने वाला है

उन्होंने कहा कि मुस्लिम समाज से भी लोग आगे आएंगे और मुस्लिम समाज के भीतर जो बेटियों पर गुजर रहा है उसके खिलाफ खुद लड़ाई लड़ेंगे और कभी न कभी खुद ही रास्ता निकालेंगे। बता दें कि तीन तलाक पर पीएम मोदी का ये बयान ऐसे समय में आया है जब सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ जल्द ही इस पर सुनवाई कर इसकी संवैधानिक वैधानिकता पर फैसला देने वाली है।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें