कोलन इंफेक्शन और न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर क्या होता है? ऐसे करें बचाव

कोलन इंफेक्शन

डेस्क। क्या होता है कोलन इंफेक्शन और न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर? कोलन यानी मलाशय हमारे शरीर में पाचन तंत्र का ही हिस्सा होता है। जब हम भोजन ग्रहण करते हैं तो हमारा शरीर भोजन को पचाने के बाद लिक्विड और हार्ड मटीरियल को अलग-अलग कर देता है। यह काम आंतों में होता है। इसके बाद वेस्ट मटीरियल कोलन में जमा होता है और मल के रूप में बाहर आता है।

क्या होता है कोलन में शुरूआती लक्षण

जब कोलन में बैक्टीरिया, सूजन या अन्य किसी वजह से संक्रमण होता है तो शुरुआती स्तर पर कब्ज, पेट दर्द, गैस, थकान, ऊर्जा की कमी और मल त्याग करते समय दिक्कत होती है। कोलन में इंफेक्शन ज्यादातर ऐसा भोजन लेने के कारण होता है जिसे पचाने में हमारे पाचन तंत्र को बहुत अधिक मेहनत करनी पड़ती है, या जो भोजन हमारे शरीर में ठीक से पच नहीं पाता। इस तरह का वेस्ट फूड हमारे कोलन में जमा होने लगता है।

पचाने के प्रयास के दौरान जो रासायनिक तत्व हमारे पाचनतंत्र में बनते हैं, वो भी कोलन में अलग-अलग फॉर्म में जमा होकर उसको नुकसान पहुंचाने लगते हैं। जब स्थिति अधिक गंभीर होती है तो कोलन में बलगम या कफ जमा हो जाता है और मल त्याग करते समय होनेवाली दिक्कतें बढ़ने लगती हैं।

इसी कोलन इंफेक्शन के कारण बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता इरफान खान का निधन हो गया। इरफान करीब दो साल से भी अधिक समय से न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर से जूझ रहे थे और पूरी हिम्मत के साथ इस बीमारी से बाहर आ रहे थे। लेकिन पिछले दिनों उन्हें कोलन इंफेक्शन यानी मलाशय में संक्रमण की समस्या हुई और इसी के चलते उन्हें हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया जहां उन्होंने आखिरी सांस ली।

ऐसे रखें कोलन को साफ

कोलन को साफ रखने के लिए सबसे पहले जरूरी है कि आप पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं। साथ ही अलग-अलग तरह के पेय पदार्थों का सेवन मौसम और समय के अनुसार करें। जैसे, दूध, दही, छाछ, नींबू पानी इत्यादि। इससे कोलन को साफ करने और पाचन को दुरुस्त रखने में मदद मिलती है।

फाइबर युक्त भोजन का सेवन करें

कोलन की सफाई के लिए जरूरी है कि आप अपनी डायट में फाइबर युक्त भोजन को जरूर शामिल करें। ऐसा करने से पाचन तंत्र ठीक रहता है। शरीर को पर्याप्त मात्रा में ऊर्जा मिलती है और शरीर को सभी पोषक तत्व प्राप्त होने के बाद वेस्ट को मल के रूप में निकालने में आसानी होती है। इससे कोलन की नियमित सफाई होती रहती है।