उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे ने न्यूजीलैंड को बताया खिताब का प्रबल दावेदार

अजिंक्य रहाणे

नई दिल्ली। भारतीय टेस्ट टीम के उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे का मानना है कि न्यूजीलैंड शुक्रवार से शुरू हो रही दो मैचों की टेस्ट सीरीज में जीत की प्रबल दावेदार के रूप में उतरेगी, क्योंकि वह अपने घर में खेल रही है। दोनों टीमों के बीच सीरीज का पहला टेस्ट मैच बेसिन रिजर्व मैदान पर खेला जाएगा।

मैच से पहले संवाददाता सम्मेलन में गुरुवार को रहाणे ने कहा, मुझे लगता है कि न्यूजीलैंड अपने घर में खेल रही है तो वह जीत की प्रबल दावेदार के रूप में उतरेगी। लेकिन साथ ही मुझे यह भी लगता है कि भारत भी जीतने की दावेदार है क्योंकि उन्हें पता है कि यहां गेंदबाजी कैसे करनी हैं और बल्लेबाजों को पता है कि क्या शॉट्स खेलने हैं।

यह भी पढ़ें -   भारत-दक्षिण अफ्रीका टी20: दक्षिण अफ्रीका ने टॉस जीता, पहले गेंदबाजी का फैसला

उन्होंने कहा, एक इकाई के तौर पर हमें सीखने और जल्द से जल्द स्थितियों के साथ सामंजस्य बैठाने की जरूरत है क्योंकि न्यूजीलैंड के मैदानों में कोण बने हुए हैं। रहाणे के मुताबिक भारत को पहली पारी में कम से कम 320 रन करने की जरूरत है ताकि वो अपने गेंदबाजों को मौका दे सकें।

उन्होंने कहा, जब आप पहले बल्लेबाजी करते हो तो आपकी मानसिकता हमेशा से सकारात्मक होती है। मैं ऐसा नहीं कह रहा है कि पहले गेंदबाजी करते हुए ऐसा नहीं होता। अगर आप भारत के बाहर पहली पारी में 320-330 रन बना लेते हो तो यह अच्छा स्कोर होता है। रहाणे ने कहा, अगर आप देखें कि हमने जो मैच जीते हैं (आस्ट्रेलिया और इंग्लैंड) उनमें हमने पहली पारी में 320 से 350 रन बनाए थे।

यह भी पढ़ें -   वेलिंग्टन टेस्ट : न्यूजीलैंड की ठोस शुरुआत, अर्धशतक के करीब विलियम्सन

उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे कहा, हम जानते हैं कि हमारे गेंदबाज किसी भी स्थिति में विकेट ले सकते हैं लेकिन मान लीजिए कि हम टॉस हार गए, तब आपको पता होना चाहिए कि आप बल्लेबाजी करने की सही मानसिकता में हो और उन स्थितियों का सामना कर सकते हो। उप-कप्तान ने कहा, गेंद जहां सीम करती है उस स्थिति में आपको अपनी मानसिकता सही रखनी होती है तब भी जब आप टॉस हार जाते हो। यही बात गेंदबाजों के लिए भी लागू होती है। उन्हें विश्वास होना चाहिए कि वह टेस्ट में 20 विकेट ले सकते हैं।

यह भी पढ़ें -   कोरोना वायरस- बीसीसीआई ने खिलाड़ियों के लिए जारी किए दिशा-निर्देश

रहाणे ने अपने टेस्ट करियर का पहला शतक न्यूजीलैंड में बेसिन रिजर्व मैदान पर ही बनाया था। अपने अनुभव के बारे में रहाणे ने कहा, वो मेरे लिए विशेष पल था। पहला शतक लगाना, मैं हमेशा अपना पहला शतक बार-बार देखता रहता हूं। मैं जानता हूं कि हवा के कारण मेरी बैकलिफ्ट बदलती है। इसें नियंत्रण में करना चुनौती है। कई बार आपको कम बैकलिफ्ट के साथ खेलना होता है और आपको अपना गार्ड भी बदलना होता है और फिर उसके हिसाब से खेलना होता है।


देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं। खबरों का अपडेट लगातार पाने के लिए हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें।