Anti CAA Protest – एंटी इंडिया नारे लगाने पर लड़की को 14 दिन की न्यायिक हिरासत

Anti CAA Protest

नई दिल्ली। Anti CAA Protest – बेग्लुरु में एमआईएएमआईएम के नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ आयोजित रैली में एक लड़की ने भारत विरोधी नारे लगाए। लड़की ने मंच से पाकिस्तान के पक्ष में जिंदाबाद कहकर नारा लगाया। हालांकि मंच पर मौजूद सुरक्षा कर्मियों ने तुरंत ही लड़की को कब्जे में लिया। फिलहाल लड़की को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

Anti CAA Protest में एंटी इंडिया नारेबाजी के बाद मंच से औवेशी ने कहा कि उनका इस नारेबाजी से कोई लेना-देना नहीं है। उन्होंने मंच से भारत जिंदाबाद के नारे लगाए और कहा कि भारत हमेशा से जिंदाबाद था और रहेगा। उन्होंने कहा कि हम किसी दुश्मन मुल्क की तारीफ नहीं करते, हमें सिर्फ भारत से मतलब है।

पाकिस्तान के पक्ष में जिंदाबाद के नारे लगाने वाली लड़की का नाम अमूल्या है। लड़की पर देशद्रोह का मामला दर्ज किया गया है। मजिस्ट्रेट ने अमूल्या को जमानत देने से इंकार कर दिया और न्यायिक हिरासत में भेजने का आदेश दिया। वहीं लड़की के पिता ने इस घटना पर कहा कि उसके खिलाफ कार्यवाई करें पुलिस।

यह भी पढ़ें -   कोरोना अपडेट: भारत में कोरोना 50 हजार के करीब, किस राज्य में कितनी मौतें हुई?

युवती को 23 फरवरी तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। बता दें कि जिस समय लड़की ने पाकिस्तान के पक्ष में नारेबाजी की उस वक्त औवेशी भी मंच पर मौजूद थे। नारेबाजी के बाद औवेशी ने लड़की को रोकने की कोशिश की। बाद में ओवैशी ने लड़की को रोकते हुए इस नारेबाजी की निंदा की।

वहीं अमूल्या के पिता का कहना है कि वो विशेष समुदाय के कुछ लोगों के प्रभाव में थी। मैंने उसे ऐसी गतिविधियों से दूर रहने की चेतावनी दी थी, लेकिन उसने मेरी बात नहीं सुनी।

यह भी पढ़ें -   Motor Vehicle Act 2019: गाड़ी चलाते वक्त रखें इन बातों का ध्यान, नहीं कटेगा चालान

आरोपी लड़की अमूल्या के घर के  बाहर प्रदर्शन

इस घटनाक्रम के बाद देशद्रोह आरोपी अमूल्या के घर के बाहर लोगों ने प्रदर्शन किया। उनके आवास पर देर रात हमला भी किया गया। राज्य के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने अमूल्या के लिए सजा की मांग की। बता दें कि गुरुवार को अमूल्या ने नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में आयोजित रैली में भारत विरोधी नारेबाजी की थी।

सीएम येदियुरप्पा ने कहा कि पाकिस्‍तान जिंदाबाद का नारा लगाने वाली अमूल्‍या को जमानत नहीं मिलनी चाहिए। वहीं अमूल्या के पिता ने कहा कि वह उसका बचाव नहीं करेंगे। इससे यह साबित होता है कि नक्‍सलियों से उसका संपर्क है। उचित सजा दी जानी चाहिए।