Coronavirus Vaccine इन लोगों को नहीं लगवानी चाहिए

Coronavirus Vaccine

नई दिल्ली। Coronavirus भारत समेत पूरी दुनिया में कहर मचा रहा है। हालांकि अब धीरे-धीरे Coronavirus से संक्रमित लोगों की संख्या में कमी देखी जा रही है। कई देशों में Coronavirus Vaccine की वैक्सीनेशन की प्रक्रिया भी चल रही है। भारत में भी 16 जनवरी से कोरोना वायरस वैक्सीनेशन की प्रक्रिया शुरू होने जा रही है।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

कोरोना वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित है। लेकिन फिर भी कुछ लोगों को सावधानीपूर्वक Coronavirus Vaccine लेने की सलाह दी जा रही है। वैक्सीन लेने से पहले डॉक्टर की सलाह लेने और सावधानी बरतने की जरूरत है।

इन लोगों को Coronavirus Vaccine लेने पहले लेनी चाहिए डॉक्टरों की सलाह

1. छोटे बच्चों पर Coronavirus Vaccine के असर का कोई डेटा उपलब्ध नहीं है। ज्यादातर दवाई 10 साल से बड़े बच्चों के लिए बनाई गई है। मॉडर्ना वैक्सीन 18 साल से ऊपर के लिए, फाइजर वैक्सीन 16 साल से ऊपर के लिए, भारत बायोटेक कोवैक्सीन 12 साल से ऊपर के लिए और कोविशील्ड 18 साल से ऊपर के बच्चों और लोगों को लगाई जा सकती है। इसी कारण से छोटे बच्चों को कोरोना वैक्सीन के लिए अधिकृत नहीं किया गया है।

यह भी पढ़ें -   कोरोना वायरस का लक्षण पॉजिटिव आते ही सकते में आ गए थे केन रिचर्ड्सन

2. इम्यूनो कॉम्प्रोमाइज्ड या एचआईवी मरीजों पर भी कोरोना वैक्सीन के असर को लेकर कोई डेटा उपलब्ध नहीं है, ऐसा कहना है कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय में संक्रामक बीमारियों के चीफ डीन ब्लमबर्ग का। हालांकि कोरोना का खतरा इन लोगों को ज्यादा होता है। इसलिए इन लोगों को भी वैक्सीन लगाई जा सकती है। लेकिन पहले उन्हें एक्सपर्ट की सलाह जरूर ले लेनी चाहिए।

3. गर्भवती महिलाओं और बच्चों को दूध पिलाने वाली महिलाओं को भी Coronavirus Vaccine न लगवाने की सलाह दी गई है। गर्भवती महिलाओं को वैक्सीन के क्लिनिकल ट्रायल में नहीं रखा गया है। इसलिए उनके ऊपर भी कोरोना का क्या असर होगा, इसका डेटा मौजूद नहीं है। इसलिए गर्भवती महिलाओं को भी वैक्सीन लेने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर ले लेनी चाहिए।

यह भी पढ़ें -   कोरोना से संक्रमित मृतकों के परिवार के लिए केंद्र सरकार ने किया बड़ा ऐलान

4. जिन लोगों को एलर्जी है उन्हें भी Coronavirus Vaccine नहीं लेने की सलाह दी गई है। अमेरिका के सीडीसी (Centers for Disease Control and Prevention) की रिपोर्ट में कहा गया है कि फाइजर और मॉडर्ना की वैक्सीन के इस्तेमाल के बाद कई लोगों में एलर्जी की समस्या देखी गई। इसलिए जिन लोगों को एलर्जी होने की समस्या होती है उन्हें वैक्सीन लेने से पहले डॉक्टर की सलाह लेने को कहा गया है।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Follow us on Google News

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।