कोरोना वायरस का लक्षण पॉजिटिव आते ही सकते में आ गए थे केन रिचर्ड्सन

केन रिचर्ड्सन

मेलबर्न। कोविड-19 (Coronavirus) की संभावना के कारण कुछ समय के लिए अलग रहे ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज केन रिचर्ड्सन ने कहा कि एक बारगी उन्हें लगा कि उनके साथ मजाक किया जा रहा है। ऐसा न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज के दौरान हुआ। टेस्ट से हालांकि पता चला कि केन रिचर्ड्सन कोरोना वायरस से संक्रमित नहीं हैं।

बता दें कि केन के मामले के बाद यह सीरीज बीच में ही रद्द कर दी गयी। वह टीम से नहीं जुड़ पाए। इस 29 वर्षीय गेंदबाज केन रिचर्ड्सन ने अनुभव साझा करते हुए कहा, ‘मैं इसलिए जोखिम में था क्योंकि पिछले सप्ताह के दौरान मैंने विदेश दौरा किया था और मुझे चार में से एक लक्षण पाया गया था। यही वजह थी कि मेरा परीक्षण किया गया।

उन्होंने कहा कि एक समय मुझे लगा कि मेरे साथ मजाक किया जा रहा है, लेकिन तब चिकित्सकों ने समझाया कि ऐसा नहीं है। मुझे उम्मीद थी कि मेरा टेस्ट पॉजिटिव नहीं आएगा और ईश्वर की कृपा से ऐसा ही हुआ। मैं अच्छा था और मैं बाहर जाकर फिर से ताजा हवा ले सकता था।

यह भी पढ़ें -   केंद्रीय खेल मंत्रालय ने कोरोना के देखते हुए टोक्यो-2020 का दौरा स्थगित किया

उल्लेखनीय है कि ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट ने कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से अपने सभी इंटरनैशनल और डोमेस्टिक टूर्नमेंट्स के आयोजन पर रोक लगा दी थी। इसकी वजह से शेफील्ड शिल्ड का फाइनल भी नहीं खेला जा सका और न्यू साउथ वेल्स को चैंपियन घोषित किया गया था।

भारत में भी कोरोना वायरस को देखते हुए अप्रैल तक किसी भी विदेशी यात्रा पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। विदेशी यात्रियों के भारत आने पर भी रोक लगा दी गई है। वहीं भारत सरकार ने वीजा देने का कार्य भी सस्पेंड कर दिया है। राजधानी दिल्ली में 31 मार्च तक सभी स्कूल-कॉलेज और सिनेमाघरों को बंद कर दिया गया है। भारत में अभी तक 125 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। कोरोना वायरस की वजह से 3 लोगों की मौत हो चुकी है।

यह भी पढ़ें -   कोरोना वायरस जंग में सबसे मुश्किल हालात में अमेरिका, भारत से लगाई गुहार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *