भारत में आने वाले चीनी उत्पाद हो सकते हैं महंगे, जानिए वजह

कोरोना वायरस

नईदिल्ली। चीन में फैले कोरोना वायरस जहां लोगों की जान ले रहा है वहीं कोरोना वायरस के कारण भारत की इंडस्ट्री पर भी असर पड़ सकता है। इसी बीच खबर आई है कि चीन में इस बीमारी ने इंडस्ट्री पर इतना असर डाला है कि उत्पादन भी प्रभावित हुआ है। इस प्रभाव के कारण चीन से निर्यात होकर भारत आने वाले उत्पाद महंगे हो सकते हैं।

कोरोना के कारण ग्लोबल ट्रेड की गाड़ी की स्पीड घटने लगी है। जो इंडस्ट्री चीन से आयात पर निर्भर है, उनकी शिकायत सामने आने लगी है। महाराष्ट्र के औरंगाबाद में करीब 4000 छोटी कंपनियां हैं जो चीन से आयात पर निर्भर हैं। इन कंपनियों के प्रतिनिधियों का कहना है कि सप्लाई बाधित होने से कारोबार पर असर पड़ा है।

फिलहाल इंडस्ट्री के लोगों ने कीमत में तेजी का डर नहीं जताया है, हालांकि सप्लाई चेन बाधित हुआ है। मेडिसीन में कमी को लेकर अब तक कोई रिपोर्ट सामने नहीं आई है। विश्व व्यापार संगठन (डब्लूटीओ) का कहना है कि व्यापक आर्थिक स्तर पर इस तरह के प्रकोप का गंभीर असर होता है। चीन विश्व में मर्चेंडाइज का सबसे बड़ा निर्यातक और दूसरा सबसे बड़ा आयातक है। यही वजह है कि मांग और आपूर्ति में चीन की अहमियत काफी ज्यादा है।

यह भी पढ़ें -   पेट्रोल-डीजल फिर हुआ सस्ता, जानें नई दरें

चीन भारत का सबसे बड़ा ट्रेड पार्टनर भी है और भारत के आयात में चीन का योगदान 14 फीसदी के करीब है। चीन में कुछ समय के लिए और हालात ऐसे ही रहे तो बाजारों पर दबाव बढ़ेगा। भारत चीन से इलेक्ट्रिकल मशीनरी, मकैनिकल अप्लायंस, ऑर्गेनिक केमिकल्स, प्लास्टिक और सर्जिकल इंस्ट्रूमेंट का सबसे ज्यादा आयात चीन से करता है। फिलहाल वहां से कारोबार बंद है।

बता दें कि चीन में कोरोना वायर से अबतक 1 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी हैं। चीन में फैले कोरोना का कहर 25 अन्य देशों में भी फैल चुका है। बताया जा रहा है कि कोरोना वायरस चीन में साँप या चमगादर से मनुष्यों में फैला है।