Coronavirus: जानें किस ब्लड ग्रुप वाले को ज्यादा खतरा

Coronavirus in India

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) ने दस्तक दे दिया है। अभी तक 125 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। एक रिसर्च में कोरोना वायरस को लेकर नया खुलासा हुआ है। रिसर्च में बताया गया है कि किस ब्लड ग्रुप वालों को कोरोना वायरस ज्यादा निशाना बनाता है। फिलहाल कोरोना वायरस का पूरी दुनिया में 2 लाख से ज्यादा मामला सामने आ चुका है। दुनिया में कोरोना वायरस से अबतक 7800 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है।

भारत में भी कोरोना वायरस लगातार अपना विस्तार कर रहा है। भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus) से अबतक 3 लोगों की मौत हुई है। कोरोना से विश्व में सबसे ज्यादा मौते चीन में हुई हैं। चीन में 3000 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है। हालांकि अब चीन ने कोरोना के प्रकोप को बहुत हद तक कंट्रोल कर लिया है। एक तरफ वैज्ञानिक और दवा निर्माता कंपनी इसपर लगातार शोध कर रहे हैं वहीं इस वायरस के प्रकोप को लेकर नया खुलासा हुआ है।

‘O’ ब्लड ग्रुप वालों को कम खतरा

रिसर्च में खुलासा किया गया है कि किस ब्लड ग्रुप वाले लोगों को कोरोना (Coronavirus) से ज्यादा खतरा है। चीन में हुए रिसर्च में इस बात का पता लगा है कि जिन लोगों का ब्लड ग्रुप ‘ए’ (Blood Group A) है उन्हें कोरोना वायरस का ज्यादा खतरा है। वहीं इस बात का भी खुलासा हुआ है कि O ब्लड ग्रुप वाले लोगों को कोरोना वायरस का खतरा कम होता है।

यह भी पढ़ें -   मौजूदा हालातों को देखते हुए देश में कुछ दिन और रह सकता है लॉकडाउन!

चीन के वुहान में हुए एक रिसर्च में बताया गया है कि ए ब्लड ग्रुप वाले लोगों की मौत कोरोना वायरस से ज्यादा हुई है। रिसर्च में कोरोना वायरस से संक्रमित 2173 लोगों को शामिल किया गया। इनमें से 206 लोगों की मौत कोरोना के संक्रमण की वजह से हुई थी। रिसर्च में बताया गया कि ए ब्लड ग्रुप वाले मरीजों की संख्या करीब 41 फीसदी थी। वहीं ओ ब्लड ग्रुप वाले रोगियों की संख्या 25 फीसदी थी।

यह भी पढ़ें -   कोरोना खुशखबरी: लॉकडाउन के दौरान फिर लौटा 90 का दशक...

रिसर्च में कोरोना वायरस (Coronavirus) से जो लोग संक्रमित नहीं हैं उन्हें भी शामिल किया गया। 3694 लोगों को रिसर्च में शामिल किया गया जिन्हें कोरोना का संक्रमण नहीं था। इस रिसर्च पर अभी शोध होना बाकी है। शोधकर्ता अभी यह बताने में असफल हैं कि आखिरकार ब्लड ग्रुप ए वालों को ही कोरोना का संक्रमण ज्यादा क्यों हुआ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *