अब इंसान भी अंतरिक्ष की सैर कर सकेंगे, ‘स्पेस एक्स’ ने भरी पहली उड़ान

दोस्तों तकनीक (Technology) की दुनिया जिस तेजी के साथ बदल रही है, वैसे-वैसे इंसानों की महात्वाकांक्षा भी बढ़ रही है। टीवी, रेडियो से लेकर वायरलेस और इंटरनेट की दुनिया में तहलका मचाने के बाद अब वैज्ञानिक इंसानों को अंतरिक्ष की सैर करवाने की दिशा में काम कर रहे हैं। वैज्ञानिकों की तरफ से इस दिशा में लगातार काम किया जा रहा है। उम्मीद जताई जा रही है कि जल्द ही इन्सान अंतरिक्ष की सैर कर पाएंगे।

स्पेस एक्स कंपनी ने फ्लोरिडा के केनेडी स्पेस सेंटर से एक रॉकेट का परीक्षण सफलतापूर्वक किया है जो इंसानों को अंतरिक्ष की सैर करवाने में मील का पत्थर साबित हो सकता है। हालांकि अभी किसी मनुष्य को अंतरिक्ष यान में नहीं भेजा गया है। लेकिन इस रॉकेट का निर्माण इंसानों को अंतरिक्ष में ले जाने के लिए किया गया है।

रिपोर्ट के मुताबिक, अगर सबकुछ ठीक रहा तो अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी इंसानों को अंतरिक्ष में भेजने की मंजूरी दे सकती है। इस मंजूरी के बाद इंसानों को भी अंतरिक्ष में ले जाने और सैर कराने का सपना सच हो जाएगा। बता दें कि यदि यह प्रयास सफल हो जाता है तो स्पेस टूरिज्म को भी बढ़ावा मिल सकता है। स्पेस का अनुभव लेने के लिए लोगों के पास एक अच्छा विकल्प साबित हो सकता है।

जिस रॉकेट को स्पेश में भेजा गया है उसमें एक कृत्रिम अंतरिक्ष यात्री को भेजा गया है। रिपोर्ट के मुताबिक, इस अंतरिक्ष यान में एक सेंसर का इस्तेमाल किया गया है जो यह बातएंगे कि किसी इंसान को अंतरिक्ष में किन-किन परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। स्पेस यान में सवार कृत्रिम यात्री को रिपली नाम दिया गया है।

यदि अंतरिक्ष में इंसानों को सैर कराने के लिए बनाया गया यह रॉकेट का प्रयोग सफल होता है तो फिर कोई भी इंसान आसानी से अंतरिक्ष की सैर सकेगा। आशा है कि यह प्रयास सफल होगा और जल्द ही इसे व्यावसायिक प्रयोग के लिए मंजूरी मिल जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *