जानिए क्यों नीतीश सरकार क्वारंटाइन सेंटर में बंटवा रही है कंडोम

नीतीश सरकार

पटना। इस बात में कोई हर्ज नहीं है कि बिहार में मजदूरों की बदहाली पर बिहार सरकार की कितनी आलोचना हुई है। लेकिन अब जिन श्रमिकों को क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया है, उनका आदर सत्कार करने में  बिहार की नीतीश सरकार की तरफ से कोई कमी नहीं की जा रही है।

हालांकि पिछले दिनों बिहार के क्वारंटाइन सेंटर में श्रमिकों के खाने की बदइंतजामी और रहने की असुविधा के ढ़ेरों वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुए हैं। लेकिन अब नीतीश सरकार की तरफ से उन श्रमिकों को क्वारंटाइन सेंटर से विदाई में एक नया तोहफा देने की शुरूआत की गई है।

श्रमिकों को नीतीश सरकार की तरफ से कंडोम और गर्भनिरोधक की गोलियां दी जा रही है। जानकारी के मुताबिक, सरकार के इस कदम के लिए कहा जा रहा है कि इस समय समूचे बिहार में प्रजनन दर एक चिंता का विषय बना हुआ है जो देश में सर्वाधिक है।

यह भी पढ़ें -   केंद्रीय खेल मंत्रालय ने कोरोना के देखते हुए टोक्यो-2020 का दौरा स्थगित किया

एक विशलेषण के अनुसार, इसके पीछे की वजह बताई जा रही है कि ये श्रमिक जो साल में होली, दिपावली या छठ के समय आते हैं। उसके नौ महीने के बाद सरकारी अस्पतालों में प्रसव का दर काफ़ी बढ़ जाता है। इसलिए सरकार की तरफ से इस बार क्वारंटाइन सेंटर को लक्ष्य बनाया गया है ताकि श्रमिकों को जागरूक किया जा सके।

हालांकि जब इस पर वीडियो और फोटो सामने आए तो मजदूरों की तरफ से कहा गया कि उन्हें इन सबसे ज्यादा इस समय रहने के लिए छत और पेट भरने के लिए खाने की जरूरत है। सरकार उस पर ध्यान दें तो ज्यादा बेहतर होगा।