लद्दाख और अरुणाचल सहित जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग – विदेश मंत्रालय

लद्दाख और अरुणाचल

नई दिल्ली। भारत सरकार ने गुरुवार को चीन को सीधा जवाब देते हुए कहा कि केंद्रशासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर और लद्दाख देश के अभिन्न अंग रहे हैं, हैं और रहेंगे। केंद्र सरकार ने कहा कि चीन को भारत के आंतरिक मामलों पर टिप्पणी करने का कोई अधिकार नहीं है। भारतीय विदेश मंत्रालय ने लद्दाख और अरुणाचल सहित जम्मू-कश्मीर को भारत का अभिन्न अंग बताया।

भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने यह बयान चीन की उस टिप्पणी पर दिया है जिसमें चीन ने कहा था कि वह केंद्रशासित प्रदेश लद्दाख और अरुणाचल प्रदेश राज्य को मान्यता नहीं देता। श्रीवास्तव ने कहा कि हमें उम्मीद है कि चीन भारत के आंतरिक मामलों पर टिप्पणी नहीं करेंगे जैसा कि वे दूसरों से अपेक्षा करते हैं।

चीनी बयान पर भारत का रूख कड़ा

विदेश मंत्रालय ने अरुणाचल प्रदेश को लेकर चीनी बयानवाजी का भी जवाब देते हुए कहा कि अरुणाचल प्रदेश भारत का अभिन्न अंग है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि अरुणाचल प्रदेश पर भी हमारा रुख कई बार स्पष्ट किया जा चुका है। अरुणाचल प्रदेश भारत का अविभाज्य और अभिन्न हिस्सा है। यह बात चीनी पक्ष को सर्वोच्च स्तर तक कई बार स्पष्ट रूप से बताई जा चुकी है।

बता दें कि भारत के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने पिछले सोमवार को कुछ सीमावर्ती इलाकों में भारत सरकार द्वारा निर्मित नए पुलों का उद्घाटन किया था। इसी उद्घाटन के बाद चीनी विदेश मंत्रालय की तरफ से कहा गया था कि चीन केंद्रशासित प्रदेश लद्दाख और अरुणाचल प्रदेश को मान्यता नहीं देता।

चीन ने भारत द्वारा सीमा पर बुनियादी विकास को दोनों पक्षों के बीच तनाव की मुख्य वजह बताया। बता दें कि भारत सरकार ने एक के बाद एक कई सड़कों और नए पुलों का निर्माण सीमावर्ती इलाकों में किया है। सरकार इस दिशा में और तेजी के साथ काम कर रही है, ताकि सीमावर्ती इलाकों को भारत के अन्य हिस्सों से जोड़ा जा सके और आपात स्थिति में जल्द से जल्द राहत पहुंचाया जा सके।