भारत की आर्थिक वृद्धि दर 2020 में घटकर 5.4 प्रतिशत रहने का अनुमान

भारत की आर्थिक वृद्धि दर

नई दिल्ली। साख निर्धारण और बाजार अनुसंधान कंपनी मूडीज इनवेस्टर्स सर्विस ने भारत के लिए वर्ष 2020 की आर्थिक वृद्धि दर का अनुमान घटाकर 5.4 प्रतिशत कर दिया है। इससे पहले इसके 6.6 प्रतिशत रहने का अनुमान जताया गया था। मूडीज ने वैश्विक आर्थिक परिदृश्य पर जारी अपनी रिपोर्ट में कहा कि भारत की अर्थव्यवस्था में पिछले दो साल में सुस्ती आयी है। हालांकि चालू तिमाही में आर्थिक गति सुधने की उम्मीद जताई गई है।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

रेटिंग एजेंसी मूडीज ने कहा कि हमारा अनुमान है कि वृद्धि सुधरने की गति पहले के अनुमान से धीमी होगी। इसी लिए हमने 2020 की आर्थिक वृद्धि दर का अनुमानघटाकर 5.4 प्रतिशत और 2021 का 5.8 प्रतिशत कर दिया है। यह हमारे 2020 और 2021 के बारे में पहले के क्रमश: 6.6 प्रतिशत और 6.7 प्रतिशत के अनुमान से कम है। बता दें कि यह अनुमान कैलेंडर वर्ष पर आधारित हैं। भारत की आर्थिक वृद्धि दर 2019 में 5 प्रतिशत रही थी।

यह भी पढ़ें -   ज्योतिरादित्य सिंधिया कोरोना पॉजिटिव, दिल्ली स्थित मैक्स हॉस्पिटल में भर्ती

मूडीज ने कहा है कि कमजोर अर्थव्यवस्था और कर्ज वृद्धि में नरमी का एक-दूसरे पर प्रतिकूल असर है। ‘‘ऐसे में आर्थित गति तेजी से सुधरने का अनुमान लगाना कठिन है।’’ राजकोषीय मोर्चे पर उठाये गये कदम के बारे रिपोर्ट में कहा गया है कि मांग में नरमी से निपटने के लिये केंद्रीय बजट में ठोस प्रोत्साहन उपाए नहीं किये गये हैं। ‘‘ अन्य देशों के समान प्रकार के नीतगत उपायों के अनुभवों से यही पता लगा है कि जब लोग जोखिम से बचने के मूड में हो जाते हैं तो करों में कटौती से उपभोग और निवेश व्यय में वृद्धि होने की संभावना कम ही रहती है।’’

यह भी पढ़ें -   प्रधानमंत्री मोदी का चौकाने वाला खुलासा, सोशल मीडिया छोड़ सकते हैं!

मूडीज ने कहा कि उसे रिजर्व बैंक की तरफ से नीतिगत दर में नरम रुख की उम्मीद है। हालांकि उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति अगर ऊंची बनी रहती है तो रिजर्व बैंक के लिए नीतिगत दर में कटौती चुनौतीपूर्ण होगी। खुदरा मुद्रास्फीति में मौजूदा तेजी का कारण खाद्य वस्तुओं के दाम में उछाल देखा जा रहा है।

वैश्विक वृद्धि के अनुमान को कम किया गया है और मूडीज ने जी-20 देशों की आर्थिक वृद्धि 2020 में 2.4 प्रतिशत और 2021 में 2.8 प्रतिशत रहने की संभावना जतायी है। वहीं एजेंसी ने चीन की आर्थिक वृद्धि दर 2020 में 5.2 प्रतिशत और 2021 में 5.7 प्रतिशत रहने का अनुमान जताया है।

यह भी पढ़ें -   हाथरस मामला - आज फिर राहुल गांधी जाएंगे हाथरस, दोपहर को होंगे रवाना
Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Follow us on Google News

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।