छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी का निधन, 21 दिनों से थे बीमार

अजीत जोगी का निधन

रायपुर। छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी का शुक्रवार को निधन हो गया। उन्होंने रायपुर के अस्पताल में अंतिम सांस ली। वे 74 साल के थे। अजीत जोगी को कार्डियक अरेस्ट के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उनका पिछले 21 दिनों से इलाज चल रहा था।

जानकारी के अनुसार, अजीत जोगी का रायपुर के नारायणा अस्पताल में पिछले 21 दिनों से इलाज चल रहा था। जोगी कोमा में थे। जोगी को 9 मई को कार्डियक अरेस्ट के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

अजीत जोगी के निधन की खबर अमित जोगी ने अपने ट्विटर अकाउंट के जरिये दी। अजीत जोगी का अंतिम संस्कार उनकी जन्मस्थल गौरेला में शनिवार को किया जाएगा।

यह भी पढ़ें -   केजरीवाल ने कर दी अपनी हदें पार ! चुनाव आयोग को कह दिया धृतराष्ट्र

अमित जोगी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा, “२० वर्षीय युवा छत्तीसगढ़ राज्य के सिर से आज उसके पिता का साया उठ गया।केवल मैंने ही नहीं बल्कि छत्तीसगढ़ ने नेता नहीं,अपना पिता खोया है।माननीय अजीत जोगी जी ढाई करोड़ लोगों के अपने परिवार को छोड़ कर,ईश्वर के पास चले गए।गांव-गरीब का सहारा,छत्तीसगढ़ का दुलारा,हमसे बहुत दूर चला गया।”

पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने अजीत जोगी के निधन पर दुख व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि अजीत जोगी के देहांत से हृदय को गहरा दुख पहुंचा है। उनका निधन प्रदेश के लिए अपूरणीय क्षति है। परमात्मा दिवंगत आत्मा को शांति और प्रियजनों को धैर्य प्रदान करें।

कांग्रेस से अलग होकर बनाई नई पार्टी

यह भी पढ़ें -   सुकमा में नक्सली हमला: 2 जवान शहीद, 7 घायल

अजीत जोगी लंबे समय तक कांग्रेस से जुड़े रहे। छत्तीसगढ़ राज्य के गठन के बाद अजीत जोगी राज्य के पहले मुख्यमंत्री बने। बादे में वे कांग्रेस से अलग होकर छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस पार्टी से जुड़े। पार्टी का गठन स्वयं अजीत जोगी ने किया था। राजनीति में आने से पहले जोगी एक आईएएस अधिकारी थे। जोगी राज्य विधानसभा, राज्यसभा, लोकसभा के सदस्य भी रहे।