चीन ने भारत के साथ सीमा विवाद पर ट्रंप के मध्यस्थता प्रस्ताव को ठुकराया

सीमा विवाद

नई दिल्ली। चीन ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के मध्यस्थता प्रस्ताव को ठुकरा दिया है। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता जो ने कहा कि चीन भारत के साथ सीमा विवाद पर किसी तीसरे पक्ष की मध्यस्थता को अस्वीकार करता है। चीन ने कहा कि भारत और चीन के बीच सीमा विवाद के समाधान के लिए उचित मानडंड और मैकेनिज्म हैं। दोनों देश आपसी विवाद को सुलझा सकते हैं।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

चीन का बयान ऐसे समय में आया है कि जब चीन कोविड-19 महामारी के कारण पूरे विश्व में किरकिरी झेल रहा है। सीमा पर गतिरोध बढ़ने का कारण कई विशेषज्ञ चीन में शी की साख लग झटकों पर से लोगों का ध्यान भटकाने के लिए ऐसा किया गया मानते हैं। हालांकि भारत को इस मामले में सतर्क रहने की भी सलाह दी गई है और चीन के साथ किसी भी संभावित संघर्ष के लिए तैयार रहने को कहा है।

यह भी पढ़ें -   Article 370 और 35A खत्म, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख बना दो प्रदेश

बता दें कि भारत और चीन के बीच लद्दाख में पिछले कुछ दिनों से गतिरोध चल रहा है। चीन भारतीय क्षेत्र में हो रहे निर्माण कार्यों का विरोध कर रहा है। लेकिन भारत ने साफ कर दिया है कि भारत अपने क्षेत्र में हो निर्माण कार्यों को जारी रखेगा।

हाल ही में भारत और चीन के बढ़ते तनाव के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि अमेरिका भारत और चीन के बीच सीमा विवाद पर मध्यस्तता करने को तैयार है। हालांकि चीन से पहले भारत ने भी अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया था।

यह भी पढ़ें -   लद्दाख सीमा पर भारत-चीन के बीच तनाव बढ़ा, पीएम मोदी ने की उच्चस्तरीय बैठक

बता दें कि इससे पहले नेपाल ने भी भारत के कुछ हिस्सों को शामिल कर अपना क्षेत्र बताया था। नेपाल ने नया नक्शा बनाकर भारत के कुछ हिस्सों पर अपना हक जताया था। हालांकि भारत ने साफ कर दिया था कि इस प्रकार की कार्रवाई से नेपाल को बचना चाहिए।

भारत के रूख को देखते हुए अब नेपाल ने सीमा विवाद पर बातचीत की पेशकश की है। हालांकि भारत ने साफ कर दिया है कि कोई भी बातचीत से पहले नेपाल को विश्वास का माहौल बनाना होगा।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Follow us on Google News

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।