श्रीराम की सीख: मुश्किल समय में धैर्य और शांति से लेना चाहिए काम, हालात कभी भी बदल सकते हैं

श्रीराम की सीख

देश में भगवान श्रीराम को चाहने वाले करोड़ों हैं। भगवान श्रीराम को भगवान विष्णु का अवतार माना जाता है। उन्हें मर्यादा पुरुषोत्तम कहा जाता है। राम जी की पूजा के साथ ही उनकी सीख को भी जीवन में उतारना चाहिए। इससे जीवन की दिक्कतें खत्म हो सकती हैं और मन शांत होता है।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

जीवन में किसी भी प्रकार के मुश्किल हालात हो, हमें उन हालातों में हमेशा धैर्य और शांत रहकर मुकाबला करना चाहिए। अपने 14 वर्षों के वनवास में भी भगवान राम ने हमेशा ही धैर्य से काम लिया और सभी को साथ लेकर चले। 

यह भी पढ़ें -   शुक्रवार को करें इन देवियों की पूजा, धन संपत्ति और प्रेम का मिलेगा वरदान

रामायण में श्रीराम के राज्याभिषेक को लेकर सभी तैयारियाँ हो गई थी। राजा दशरथ ने राम जी अयोध्या का राजा तय किया था। लेकिन राज्याभिषेक के ठीक एक दिन पहले मंथरा दासी ने राजा दशरथ की दूसरी पत्नी कैकयी को भड़का दिया। 

मंथरा की बातों में आकर कैकयी माता ने राजा दशरथ से दो वचन मांगे। पहला वचन यह था कि अयोध्या का राजा राम को नहीं बल्कि भरत को बनाया जाए और दूसरा वचन श्रीराम को 14 वर्ष का वनवास मांगा गया। राजा दशरथ रघुकुल की रीत को निभाते हुए वचन निभाने के लिए मजबूर हो गए। 

यह भी पढ़ें -   Vastu Tips: घर में है तुलसी का पौधा, ना रखें इन चीजों को, आती है दरिद्रता और अशांति

फिर राजा दशरथ ने यह सभी बातें श्री राम को बताई। इन बातों को जानकर भी श्रीराम ने धैर्य और शांति बनाए रखा। पिता दशरथ की पूरी बात को ध्यान से सुनने के बाद उनके वचन को पूरा करने के लिए भगवान राम वन में जाने के लिए तैयार हो गए।

जब राम जी का राज्याभिषेक होना था लेकिन रातों-रात ही हालात बदल गए। मुश्किल हालात में भी श्रीराम ने अपना धैर्य नहीं खोया और शांति बनाए रखी। श्रीराम के साथ लक्ष्मण और सीता भी वनवास गए।

श्रीराम की सीख

यह भी पढ़ें -   कार्तिकेय की पूजा कैसे करें? भगवान कार्तिकेय की पूजा से घर में आती है सुख-समृद्धि

इस घटना से हमें यह सीख मिलती है कि हालात कभी भी बदल सकते हैं। किसी भी परिस्थिति के लिए हमें हमेशा तैयार रहना चाहिए। हमेशा सकारात्मक रहना चाहिए और मुश्किल हालात में धैर्य तथा शांति से काम लेना चाहिए। इससे जीवन में सबकुछ ठीक होता है।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Follow us on Google News

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।