हाथ से दीपक या पूजा की थाली गिरना किस बात का संकते होता है?

हाथ से दीपक गिरना

हाथ से दीपक गिरना अपशकुन माना जाता है। कई बार ऐसा होता है कि गलती से पूजा करते वक्त हाथ से पूजा की थाली या दीपक गिर जाता है। ऐसे में हाथ से पूजा की थाली गिरना या हाथ से दीपक गिरना अशुभ माना जाता है। यदि ऐसा बार-बार हो रहा है तो माना जाता है कि आपकी पूजा को ईश्वर ने स्वीकार नहीं किया है।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

हिंदू धर्म में सुबह के समय भगवान की पूजा (God Worship) करने का विधान है। ऐसा करना अति उत्तम माना जाता है। लेकिन कई बार ऐसा होता है कि पूजा करते समय पूजा की सामग्री हाथ से छूट कर गिर जाती है। ऐसा जल्दबाजी में होता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, पूजा के समय हाथ से छूटकर कुछ चीजों का गिरना अशुभ माना जाता है।

हाथ से दीपक गिरना शुभ या अशुभ

ऐसा माना जाता है कि भगवान व्यक्ति के जीवन में होने वाले अच्छे बुरे घटनाओं का संकेत पहले ही दे देते हैं। जो व्यक्ति इन संकेतों को समझ लेता है, वह समय रहते इसके लिए उपाय करता है। संकेतों के पहले मिलने से आने वाली परेशानियों से काफी हद तक बचा जा सकता है।

यह भी पढ़ें -   पूर्व दिशा में सोना अच्छा या बुरा? पूर्व दिशा में पैर करके क्यों नहीं सोना चाहिए?

ऐसे में हादसे पूजा का दीपक गिरना अच्छा नहीं होता है। ऐसा यदि आपके साथ होता है तो यह किसी अनहोनी के होने का संकेत है। आपसे आप के देवता नाराज हो सकते हैं। यदि आपके साथ भी ऐसा होता है तो आप अपने कुलदेवता की पूजा करें और दो दीपक जलाएं।

हाथ से सिंदूर का गिरना

पूजा की दीपक की तरह ही हाथ से सिंदूर का गिरना भी अच्छा नहीं होता है। यदि किसी व्यक्ति के हाथ से सिंदूर गिरता है तो इसका मतलब है कि उनके परिवार में इसी तरह की मुसीबत आने वाली है। किसी स्त्री के हाथ से सिंदूर गिरने का मतलब है कि उनके पति पर कोई मुसीबत आने वाली है।

यह भी पढ़ें -   भगवान गणेश की पूजा इस तरह करने से होती है हर मनोकामना पूर्ण

सिंदूर को शुभ और सौभाग्य का प्रतीक माना जाता है। ऐसे में सिंदूर का गिरना बहुत ही अशुभ माना जाता है। गलती से हाथ से यदि गलती से आपके हाथ से सिंदूर गिर गया है तो उसे पैर से साफ नहीं करना चाहिए। इसके अलावा गिरे हुए सिंदूर को झाड़ू से भी साफ नहीं करना चाहिए। आप इसे साफ कपड़े में उठाकर डिब्बी में रख लें। इसे मांग में नहीं लगाना चाहिए।

भगवान की मूर्ति या तस्वीर गिरना

पूजा का दीपक हाथ से गिरने के साथ-साथ भगवान की मूर्ति या तस्वीर भी गिरना अच्छा नहीं होता है। भगवान की मूर्ति और तस्वीरों को साफ करते हुए इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि वह गलती से भी नहीं गिरे। यदि भगवान की मूर्ति और तस्वीर साफ करते समय गिर जाता है तो यह संकेत होता है कि परिवार के किसी वरिष्ठ सदस्य के ऊपर संकट आने वाला है।

इस तरह की घटना होने पर आपके परिवार में समस्याएं होने वाली हैं। घर में उथल-पुथल हो सकता है। यदि मूर्ति या तस्वीर गलती से टूट फूट जाए तो इसे आदर पूर्वक जल में प्रवाहित कर दें। घर में टूटी हुई मूर्तियों और फटी हुई तस्वीरों को नहीं रखना चाहिए। यदि आपके तस्वीर पर शीशे लगे हुए हैं तो उसे जमीन में गाड़ देना चाहिए। शीशा को जल में नहीं फेंकना चाहिए।

यह भी पढ़ें -   पीरियड में गुरुवार का व्रत करना चाहिए या नहीं, इन बातों का रखें ध्यान
पानी से भरा हुआ कलश गिरना

पूजा के समय कलश गिरना भी अच्छा नहीं माना जाता है। कलश में जल भरकर लाने के क्रम में यदि यह हाथ से गिर जाए तो यह अशुभ संकेत होता है। कलश के साथ-साथ जल से भरा हुआ लोटा, गिलास का हाथ से गिरना भी अच्छा नहीं होता है। पानी से भरा कलश गिरने का मतलब है कि आपसे आपके पितृ नाराज हैं। ऐसा यदि बार-बार होता है तो ऐसा होना परिवार में किसी परेशानी के आने का संकेत होता है।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Follow us on Google News

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।