घर में शिवलिंग की पूजा कैसे करें? जानें सही विधि और नियम

घर में शिवलिंग की पूजा कैसे करें?

सावन का महीना खत्म हो चुका है। सावन के महीने में भगवान शिव की पूजा की जाती है। कई लोग घर में भी शिवलिंग की स्थापना करते हैं। आइए जानते हैं कि घर में शिवलिंग की पूजा कैसे करें? कहा जाता है कि शुद्ध, पवित्र और स्वच्छ मन से पूजा करने से भगवान शिव की कृपा से भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूरी होती है।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

यदि आपके घर में शिवलिंग स्थापित है तो घर में शिवलिंग की पूजा करने के कुछ नियम होते हैं, जिनका पालन करना जरूरी होता है। शिवलिंग की पूजा के नियमों की अनदेखी करने से आपको कई प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। 

भगवान शिव को सनातन धर्म में पंच देवों में से एक माना गया है। भोलेनाथ अपने नाम की तरह काफी भोले हैं और उनकी पूजा-विधि भी बहुत ही सरल है। सच्चे मन से जो भी भक्त भोलेनाथ की पूजा करता है, उसे भगवान शिव की कृपा अवश्य प्राप्त होती है।

यह भी पढ़ें -   Shanivar Vrat Tips: शनिवार के व्रत में नमक खाना चाहिए या नहीं

एक तरफ भगवान शिव का अनुपम और कृपालु रूप है तो वहीं दूसरी तरफ शिव का विकराल और रूद्र रूप भी है। क्रोध की स्थिति में भगवान शिव का विकराल और रूद्र रूप दिखता है। इसलिए महादेव के प्रतीक के तौर पर शिवलिंग की पूजा करते समय कुछ नियमों का पालन करना बहुत ही आवश्यक होता है।

यदि आपके घर में शिवलिंग स्थापित है तो पूजा के वक्त किसी भी प्रकार की गलती आप पर भारी पड़ सकती है। शिवलिंग की पूजा विधि-विधान से करना बहुत ही फलदाई माना गया है।

घर में शिवलिंग की पूजा कैसे करें?

यदि आपके पूजा घर में शिवलिंग स्थापित है तो इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि शिवलिंग की पूजा नियमित रूप से और पूरे विधि-विधान से करना चाहिए। यदि किसी कारणवश आप शिवलिंग की पूजा नहीं कर पा रहे हैं तो शिवलिंग को घर पर स्थापित नहीं करना चाहिए। शिवलिंग की पूजा ना होने से भोलेनाथ रूठ जाते हैं और इसके परिणाम कष्टकारी हो  सकते हैं।

यह भी पढ़ें -   आज है देवोत्थान एकादशी, जानें इसका महत्व और पूजन की विधि

शिवजी की पूजा में केतकी का फूल चढ़ाना वर्जित माना गया है। इसके अलावा शिवलिंग पर कभी भी तुलसीदल या तुलसी के पत्ते का उपयोग पूजा में नहीं किया जाता है। शिवलिंग पर हल्दी और कुमकुम चढ़ाना भी वर्जित माना गया है।

मंदिर और शिवालय में शिवलिंग का आकार बहुत ही विशाल होता है। लेकिन यदि आप घर पर शिवलिंग को स्थापित कर रहे हैं तो छोटे आकार के शिवलिंग को स्थापित करना चाहिए। घर पर शिवलिंग अंगूठे से बड़ा नहीं होना चाहिए, क्योंकि शिवलिंग को बहुत ही संवेदनशील माना गया है। इसलिए पूजा घर में छोटे आकार का शिवलिंग रखना शुभ माना जाता है।

इस विधि से करें शिवलिंग की पूजा

अपने घर पर प्रतिदिन शिवलिंग की पूजा करने के लिए सबसे पहले आमजन करें और फिर शिवलिंग पर गंगाजल या शुद्ध जल से अभिषेक करें। इसके बाद शिवलिंग पर चंदन का लेप लगाएं। फिर शिवलिंग पर बेलपत्र, फूल और अंगारे चढ़ाएं। इसके बाद मंत्र उच्चारण करते हुए ओम नमः शिवाय का 108 बार जप करना चाहिए। लेकिन घर पर आप 12 बार भी इस मंत्र का जाप कर सकते हैं। मंत्र जाप के बाद शिवलिंग और शिव जी की आरती करें।

यह भी पढ़ें -   Chhath Puja 2018: इन गीतों को सुनकर आपका मन भक्ति से झूम उठेगा

खास आपके लिए…

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Follow us on Google News

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।