भूलने की बीमारी से परेशान हैं तो अपनाएं यह तरीका, याददाश्त होगी वापस

भूलने की बीमारी

भूलने की बीमारी – आजकल की व्यस्तता भरी जिंदगी में लोग अपना ध्यान नहीं रख पाते हैं। यही कारण है कि अक्सर लोगों में भूलने की बीमारी देखी जाती है। कई बार ऐसा होता है कि हमें अचानक किसी चीज की जरूरत होती है हमारे दिमाग में वह याद नहीं होता या याद कर नहीं पाता। ऐसी स्थिति में हमें कई बार परेशानियों का सामना करना पड़ता है तो कई बार लोगों के बीच शर्मिंदगी का सामना करना पड़ता है। तो आइए आज हम आपको बार-बार भूलने की बीमारी को दूर करने के कुछ प्राकृतिक उपाय बताते हैं। इसके आलावा आप इससे अपनी याददाशत को भी तेज कर सकते हैं।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now
मेडिटेशन करने की आदत डालें

जब आप मेडिटेशन यानि ध्यान करते हैं तो इससे आपकी एकाग्रता बनी रहती है। ध्यान करने से आपके मन को शांति मिलती है। इसके आलावा आपके जीवन में यदि तनाव है तो उससे भी छुटकारा मिलता है। मेडिटेशन बेहद आरामदायक तरीका होता है दिमाग को शांत करने का। अत: इस प्रक्रिया को रोजाना करने से आपकी भूलने सी समस्या दूर हो सकती है।

यह भी पढ़ें -   मांसपेशियों में ऐठन को सर्दियों में करें इस तरह से दूर, जानें उपाय
पर्याप्त और अच्छी नींद लें

भागदौड़ भरी जिंदगी में यह बहुत जरूरी हो जाता है कि आपके शरीर के साथ आपके मन को भी शांति मिले। इसके लिए शरीर के साथ-साथ दिमाग को भी आराम की जरूरत पड़ती है। इसलिए हमेशा समय पर नींद लेना चाहिए। इससे दिमाग को आराम मिलता है। यही कारण है कि पर्याप्त रूप से नींद लेने से आप मानसिक और शारीरिक रूप से खुद को एक्टिव महसूस करते हैं।

इसके आलावा जब आपकी नींद पूरी नहीं होती है तो यह आपके शरीर पर बहुत बुरा असर डालती है। इससे आपको खराब याददाश्त जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। हेल्थ एक्सपर्टस की मानें तो 24 घंटे में कम से कम 7 से 9 घंटे की नींद अवश्य लेनी चाहिए। पर्याप्त नींद लेने से भूलने की बीमारी की समस्या कम होती है।

यह भी पढ़ें -   आठ घंटे से ज्यादा नींद लेते हैं तो हो जाइए सावधान, बेहद खतरनाक है ये
जॉगिंग करने की आदत डालें

एक अध्ययन के अनुसार जॉगिंग करने से शरीर में रक्त प्रवाह बढ़ता है। रोजाना जॉगिंग करने से मानव मस्तिष्क में ऑक्सीजन और पोषक तत्व अच्छी तरह से मिलते हैं। इससे मनुष्य को किसी भी काम को तेजी से करने की क्षमता बढ़ती है। जॉगिंग करने से आपका शरीर कुछ ही दिनों में अधिक फुर्ती से काम करने लगता है। इससे आपका मन हर काम में लगता है काम भी सही तरीके से होता है। जॉगिंग करने से शरीर स्वस्थ होने से दिमाग पर इसका सकारात्मक असर पड़ता है और आपकी याददाश्त तेज होती है।

शरीर का वजन बढ़ने से रोकें

आपके शरीर के बढ़ते वजन का असर आपके मस्तिष्क पर भी पड़ता है। आपके मानसिक और शारीरिक हेल्थ को बनाए रखने के लिए आपको हेल्दी रहना बहुत आवश्यक है। एक रिसर्च के अनुसार मोटे होने की वजह से आपके मस्तिष्क में याददाश्त से जुड़े जीन में कई बड़े बदलाव हो सकते हैं। ये बदलाव हमारी याददाश्त को प्रभावित करने का कार्य करते हैं। इसलिए बढ़ते उम्र के साथ अपने वजन को कंट्रोल में रखना आवश्यक होता है।

यह भी पढ़ें -   जूते पहनना है तो वेन्ड्यू के जूते ही पहने
शराब का सेवन कम से कम करें

ऐसा अक्सर देखा जाता है कि लोग शराब का सेवन करते समय यह भूल जाते हैं कि उनके जीवन में क्या चल रहा है और क्या नहीं। इसके आलावा शराब का ज्यादा सेवन उनकी सेहत पर बुरा असर डालती है। शराब के अधिक सेवन आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए खतरा बन सकता है। इससे आपकी याददाश्त खोने की समस्या हो सकती है। इसलिए जितना हो सके शराब का सेवन करने से बचें।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Follow us on Google News

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।