भारतीय भाषाओं की एकात्मता विषय पर भारतीय भाषा संगम का होगा राष्ट्रीय आयोजन

भारतीय भाषा संगम

हरिओम कुमार, मोतिहारी। गुजरात सरकार के युवा ,खेल और संस्कृति विभाग तथा शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास, नई दिल्ली के भारतीय भाषा मंच द्वारा आगामी 18 और 19 अगस्त 2023 को स्टैच्यू ऑफ यूनिटी परिसर, एकता नगर, नर्मदा गुजरात में भारतीय भाषा संगम का आयोजन किया जा रहा है।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

भारतीय भाषाओं के संरक्षण और संवर्धन की दिशा में इस तरह का पूरे भारत में यह पहला प्रयास है। अभी तक भारत में भाषाओं के नाम पर टकराव होते रहे हैं, लेकिन भारत की सभी भाषाएं राष्ट्रीय एकता को स्थापित करने वाली बनें, इस दृष्टि से भारतीय भाषा संगम की परिकल्पना की गई है। इसमें भारतीय संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल सभी 22 भाषाओं के भाषाविद और भाषा कार्यकर्ताओं की सैकड़ों की संख्या में उपस्थिति देशभर से रहने वाली है।

यह भी पढ़ें -   इंडोनेशिया में भूकंप और सूनामी में 400 से ज्यादा लोगों की मौत

इन बाइस संवैधानिक भाषाओं के अतरिक्त अरुणाचल की तागिन भाषा, भोजपुरी, नागा, मिजो, खासी, प्राकृत, अपभ्रंश इत्यादि अन्य कई भाषाओं के भाषाविदों को निमंत्रित किया गया है। उद्घाटन सत्र में गुजरात के मुख्यमंत्री श्री भूपेंद्रभाई पटेल, केंद्रीय कानून मंत्री श्री अर्जुन राम मेघवाल देश के सुविख्यात शिक्षाविद डा अतुल कोठारी प्रमुख रूप से रहने वाले हैं।

गुजरात साहित्य अकादमी के महासचिव और इस भारतीय भागा संगम के आयोजन सचिव डा जयेंद्र सिंह जादव ने कहा कि “सरदार पटेल ने देश के एकीकरण में सर्वाधिक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। ऐसे में उनके विशालतम प्रतिमा के परिसर में भारत की समग्र भाषाओं की एकात्मकता हेतु यह अभिनव प्रयास पूरे देश को एकसूत्र में जोड़ने की एक पहल है, जिसका सकारात्मक संदेश पूरे भारतवर्ष में जाएगा”।

यह भी पढ़ें -   ब्रिटेन पीएम जॉनसन आईसीयू से हुए बाहर, अभी अस्पताल में ही रहेंगे

भारतीय भाषा मंच के राष्ट्रीय संयोजक डा राजेश्वर कुमार ने कहा कि पूरे भारत से विभिन्न भाषाओं के संरक्षण और संवर्धन हेतु प्रयासरत सरकारी और गैर सरकारी संगठनों और भाषा अकादमियों के दर्जनों प्रमुख प्रतिनिधि इस सम्मेलन में शामिल होंगे तथा भारतीय भाषाओं के संरक्षण और संवर्धन हेतु साझा प्रयास का प्रारूप तैयार होगा।

मुजफ्फरपुर से इस भारतीय भाषा संगम में हिन्दी भाषा के विशेषज्ञ के रूप में एल एस कॉलेज, मुजफ्फरपुर से प्रो प्रमोद कुमार और डा राजेश्वर कुमार, भोजपुरी भाषा के भाषाविद प्रो जयकांत सिंह, मैथिली भाषा से श्री बुद्धिनाथ मिश्र, संथाली से श्रीमती शकुंतला बेसरा, अंगिका से श्री विश्वजीत विद्यालंकार, मगही से डा संदीप सागर, प्राकृत से प्रो बी एन चौधरी एवम वज्जिका से श्री अजय यादव प्रतिभाग करेंगे।

यह भी पढ़ें -   भारतीय नौसेना की बढ़ेगी ताकत, शामिल होगा मल्टीरोल हेलीकॉप्टर
Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Follow us on Google News

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।