इंडोनेशिया में भूकंप और सूनामी में 400 से ज्यादा लोगों की मौत

more-than-400-people-dead-in-earthquake-in-indonesia

नई दिल्ली। शुक्रवार को शाम को इंडोनेशिया में आए 7.5 तीव्रता के भूकंप से 400 लोगों की मौत हो गई है। भूकंप के बाद इंडोनेशिया में सूनामी की ऊंची लहरें उठी। तस्वीरों में साफ देख सकते हैं कि प्रकृति ने किस कदर कहर ढाया है। घटना में कई लोगों के घायल होने की भी खबर है। सैकड़ों लोग इस आपदा के बाद से लापता हैं, जिन्हें तालाश करने के लिए आपदा और राहत बचाव कार्य किया जा रहा है।

तो ये है निरहुआ की असली पत्नी, जानें कौन । Who is real wife of Nirahua

खबरों के मुताबिक, भूकंप में 500 से ज्यादा लोग घायल हैं। स्थानीय अस्पताल में घायल और उनके परिवार वालों की काफी भीड़ लगी हुई है। बताया जा रहा है कि भूकंप का केंद्र पालू शहर से 78 किलोमीटर की दूरी पर था। अमेरिकी भूगर्भ सर्वे के मुताबिक, शुक्रवार को मध्य सुलावेसी के डोंग्गाला कस्बे में आए इस भूकंप की तीव्रता 7.5 थी। यह तीव्रता इस साल की शुरुआत में लोमबोक द्वीप में आए भूकंप से कहीं अधिक थी, जिसमें सैकड़ों लोग मारे गए थे।

यह भी पढ़ें -   पेरिस समझौते से बाहर हुआ अमेरिका, भारत और चीन को ठहराया दोषी
Photo: AFP

एक विरासत: आधुनिक भारत के प्रथम राष्ट्रपति भारतरत्न डॉ राजेंद्र प्रसाद

भूकंप के बाद इंडोनेशिया में घायलों की संख्या बहुत ज्यादा बढ़ गई है। घायलों की संख्या इतनी ज्यादा है कि उसका इलाज खुले में किया जा रहा है। इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो के मुताबिक, त्रासदी वाली जगह पर मदद के लिए सेना को लगाया गया है। खबरों के मुताबिक, जिन इमारतों को ज्यादा नुकसान हुआ है, उनमें 80 कमरों वाला एक होटल भी है। साथ ही त्रासदी में कई मस्जिदों के भी तबाह होने की खबर है।

यह भी पढ़ें -   'डायमंड प्रिंसेज' शिप पर फंसे यात्री जा सकेंगे अपने घर, मिली इजाजत

चंद्रशेखर आजाद: एक प्रखर देशभक्त और अदभुत क्रांतिकारी

समुद्र तट पर जश्न में पहुंचे थे लोग

आपदा एजेंसी के मुताबिक, शुक्रवार की रात को भूकंप और सूनामी आने से पहले समुद्र तट पर काफी लोग पहुंचे थे। एजेंसी के मुताबिक, उस रात वहां समुद्र तट पर कोई जश्न होना था। लोग उसी में शामिल होने के लिए पहुंचे थे और उसी की तैयारियों में लगे हुए थे। राहत एवं बचाव कार्य दल फिलहाल रेत से और शवों को निकालने का प्रयास कर रही है।

यह भी पढ़ें -   हवा से हवा में मार करने वाली अस्त्र मिसाइल का परीक्षण पूरा, जल्द ही शामिल होगी बेरे में

गौरतलब है कि इससे पहले दिसंबर 2004 में भी इंडोनेशिया के सुमात्रा में 9.3 तीव्रता का भूकंप आया था। उस भूकंप के बाद हिन्द महासागर में भयंकर सूनामी की लहरें उठी थी। जिसमें भारत सहित कई देशों में 2,20,000 लोग मारे गए थे।

‘रूप की रानी’ श्रीदेवी के जीवन से जुड़ी कुछ ख़ास बातें, लिखीं अमर फिल्मों की एक लम्बी कहानी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *