छिपकली का जमीन पर गिरने से क्या होता है? जानें रहस्य

छिपकली का गिरना

छिपकली का जमीन पर गिरना या फिर शरीर के किसी हिस्से पर गिरना या दिखना कई शुभ और अशुभ घटनाओं का संकेत देता है। छिपकली को माता लक्ष्मी का रूप माना जाता है। छिपकली यदि घर में हो तो इसे शुभ माना जाता है। कई लोग छिपकली को देखकर भागने लगते हैं या फिर उन्हें इससे डर लगता है। लेकिन बता दें कि छिपकली नुकसान पहुंचाने वाला जीव नहीं है। यह हर घर में अमूमन पाया जाता है। आइए जानते हैं छिपकली का जमीन पर गिरने का रहस्य-

छिपकली दो प्रकार की होती है। एक जंगली और एक घरेलु। छिपकली की जंगली प्रजाति को गिरगिट कहा जाता है और दूसरी प्रजाति घर में रहती है। छिपकली का गिरने का पुरूष और स्त्री के लिए अलग-अलग महत्व रखता है। ऐसा माना जाता है कि पुरूष के दायें भाग पर और स्त्री के बाएं भाग पर छिपकली का गिरना शुभ माना जाता है।

यह भी पढ़ें -   Lizard in dream : सपने में छिपकली देखने का क्या मतलब होता है?

हिंदू शास्त्रों में जीव जंतुओं और मानव के बीच संबंध के बारे में बताया गया है। मनुष्य को किसी भी परेशानी से निपटने के लिए जीवों की सेवा का विशेष उल्लेख किया गया है। हिंदू धर्म में शकुन शास्त्र के अनुसार, छिपकली का किसी विशेष समय पर दिखना, जमीन या व्यक्ति के शरीर पर गिरना, शरीर के किसी खास हिस्से पर गिरना इत्यादि के संबंध में भविष्य में होने वाली शुभ-अशुभ घटनाओं से संबंधित बताया गया है।

घर की दीवारों पर छिपकली का नीचे से ऊपर की चढ़ना शुभ माना जाता है। छिपकली का ऊपर से नीचे की ओर चढ़ना शुभ नहीं माना जाता है। इसलिए छिपकली का जमीन पर गिरना शुभ नहीं माना जाता है। यदि कोई व्यक्ति नए घर में प्रवेश कर रहा हो या नए किराए के मकान में प्रवेश कर रहा हो और घर में जमीन पर मृत छिपकली पाया जाता है तो यह अशुभ संकेत होता है। उस घर के सदस्य अक्सर बीमार रहते हैं। घर में किसी भी प्रकार की सुख शांति नहीं होती है।