सुबह-सुबह शीशा देखना होता है खराब अपशकुन, हो सकते हैं इसके शिकार

सुबह-सुबह शीशा देखना

Subah Ko Shisha Dekhne ka Matlab : अक्सर ऐसा होता है कि कई लोग सुबह उठते ही सबसे पहले शीशा देखते हैं। सुबह-सुबह शीशा देखना अच्छा होता है या बुरा, इस बारे में लोगों को ज्यादा जानकारी नहीं होती है। इसलिए लोग जब सुबह को बिस्तर पर से उठते हैं तो सबसे पहले शीशा देखते हैं। लेकिन सुबह-सुबह शीशा देखना बहुत ही खतरनाक भी हो सकता है।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Subah Ko Mirror Dekhne ka Matlab – वास्तु शास्त्र के अनुसार, सुबह उठने के तुरंत बाद शीशा नहीं देखना चाहिए। सुबह उठते ही शीशा देखना शुभ नहीं होता है। ऐसा करने से व्यक्ति दिनभर नकारात्मक ऊर्जा के प्रभाव में रह सकता है। माना जाता है कि रात के समय शीशे में नकारात्मकता ज्यादा होती है। इसलिए जब आप सुबह-सुबह शीशा देखते हैं तो यह नकारात्मक ऊर्जा आपके ऊपर प्रभाव डालती है।

यह भी पढ़ें -   Vastu Tips: घर में भूलकर भी इस जगह पर ना रखें तुलसी का पौधा, जानें क्यों
बार-बार शीशा देखना

कई लोगों को बार-बार आईना देखना अच्छा लगता है। लेकिन बार-बार आईना देखने से व्यक्ति के अंदर आत्महत्या जैसा कदम उठाने की भावना बढ़ती है। यदि व्यक्ति किसी बात से परेशान है या किसी विकट समस्या से घिरा हुआ है तो बार-बार आईना देखने से उसके अंदर आत्महत्या करने की प्रवृति में बढ़ोतरी हो सकती है। ऐसा करने से डर से जुड़ी हुई बीमारियां हो सकती है।

सुबह को टूटा शीशा दिखना

सुबह के समय यदि आपको टूटा हुआ शीशा दिख जाता है तो यह बहुत ही बुरा होता है। टूटा हुआ शीशा आपका पूरा दिन खराब कर सकता है। सुबह-सुबह टूटा हुआ शीशा दिखना आपका जीवन भी बर्बाद कर सकता है। यह एक बुरी आदत होती है। सुबह के समय टूटा हुआ शीशा देखने से हमारा मन और शरीर दोनों ही दिनभर नकारात्मक ऊर्जा के प्रभाव में रहता है।

यह भी पढ़ें -   बाथरूम में किस रंग का मग और बाल्टी रखना चाहिए, जानिए साफ करने के तरीके

यदि आप इस तरह के किसी भी आदत से ग्रसित है तो उन्हें जल्द से जल्द छोड़ दें। यह एक गलत आदत है और यह आपके जीवन में कई प्रकार के नकारात्मक बदलाव को ला सकता है। सुबह उठते ही जब हम लोग शीशा देखते हैं तो यह शीशा हमारे मन और शरीर को नकारात्मक ऊर्जा से भर देता है। इसे पढ़ें- घर में कबूतर का घोंसला होना शुभ होता है या अशुभ? जानें मतलब

हमारा शरीर रात में सोने के बाद नकारात्मक ऊर्जा के प्रभाव में रहता है। ऐसे में सुबह उठते ही शीशा देखने से यह नकारात्मक ऊर्जा शीशे से रिफ्लेक्ट होकर हमारे ऊपर पड़ता है। इससे हमारा शरीर और मन नकारात्मक ऊर्जा के प्रभाव में आ जाता है। आंखों के माध्यम से यह नकारात्मकता शरीर के अंदर प्रवेश करती है। इसलिए जब भी आपको सुबह में शीशा देखना हो तो सबसे पहले अपना चेहरा पानी से धोकर देखना चाहिए।

यह भी पढ़ें -   Vastu Tips: घर के मंदिर में इस चीज को रखने से बना रहेगा महालक्ष्मी का आशीर्वाद
Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Follow us on Google News

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।