SSC Full Form: SSC का फुल फॉर्म क्या होता है? जानें SSC से जुड़ी हर जानकारी

SSC Full Form Hindi

SSC Full Form in Hindi: SSC का फुल फॉर्म क्या होता है? भारत में बिजनस (Business in India) करने का ख्याल बहुत कम लोगों के मन में आता है। यहां पर लोग सरकारी नौकरी (Government Jobs) को बेहतर मानते हैं। उनके लिए सरकारी नौकरी (Government Jobs) ही सबसे बेहतर विकल्प होता है। भारत सरकार या राज्य सरकार के विभिन्न विभागों में भर्तियों के लिए सेलेक्शन कमीशन (Selection Commission) की स्थापना की गई है।

अलग-अलग प्रतियोगी परिक्षाओं (Competitive Exams) के लिए अलग- अलग बोर्ड हैं, जैसे- यूपीएससी (UPSC), बीपीएससी (BPSC), एसएससी (SSC), इत्यादि। आज जानेंगे एसएससी के बारे में। एसएससी का फुल फॉर्म (SSC Full Form) और जॉब्स के बारे में सबकुछ।

एसएससी एक ऐसा संस्थान है जो भारत में केंद्र सरकार के विभिन्न मंत्रालयों और विभागों (Government Departments) में अलग-अलग पदों के लिए भर्ती निकालता है और कर्मचारियों की भर्ती करता है। एसएससी में 10वीं कक्षा से लेकर स्नातक कक्षा तक के विद्यार्थियों के लिए परीक्षा आयोजित की जाती है।

एसएससी बोर्ड (SSC Board) हर साल विभिन्न सरकारी विभागों में खाली पदों के लिए परीक्षा करवाता है। प्रत्येक साल इन विभागों में हजारों सरकारी नौकरियाँ (Government Jobs) निकलती हैं। एसएससी इन खाली पदों के लिए एसएससी परीक्षा (SSC Exam) के जरिए कैंडिडेट्स का सेलेक्शन करती है। आइए जानते हैं कि एसएससी क्या है? एसएससी एग्जाम देने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए?

SSC Full Form in Hindi – एसएससी का फुल फॉर्म क्या होता है?

  • SSC Full Form in Hindi – कर्मचारी चयन आयोग
  • SSC Full Form in English – Staff Selection Commission

SSC कुछ दूसरे फुल फॉर्म भी होते हैं। एसएससी (SSC) का पहला और सर्वमान्य फुल फॉर्म (Full Form) तो स्टाफ सेलेक्शन कमीशन (Staff Selection Commission) होता है लेकिन इसका दूसरा फुल फॉर्म सेकेंडरी स्कूल सर्टिफिकेट (Secondary School Certificate) भी होता है। इसे ज्यादातर राज्यों में 10th Board Exam के नाम से जाना जाता है।

एसएससी को हिन्दी में (SSC in Hindi) क्या कहते हैं? यह सवाल जरूर आपके मन में आता होगा। ज्यादातर लोग एसएससी को स्टाफ सेलेक्शन कमीशन (Staff Selection Commission) के नाम से ही जानते हैं। लेकिन बता दें कि एसएससी को हिंदी में (SSC in Hindi) कर्मचारी चयन आयोग कहा जाता है।

यह भी पढ़ें -   HDFC Full Form in Hindi - एचडीएफसी बैंक का फुल फॉर्म क्या है?

कर्मचारी चयन आयोग (Staff Selection Commission) भारत सरकार के अधीन कार्य करती है। एसएससी बोर्ड (SSC Board) भारत सरकार विभिन्न मंत्रालयों और विभागों (Government Departments) तथा अधीनस्थ कार्यालयों में खाली पदों की भर्ती के लिए एग्जाम कराता है।

एसएससी की स्थापना – Establishment of SSC

एसएससी की स्थापना (Establishment of SSC) 4 नवम्बर 1975 में की गई थी। 1975 में एसएससी का नाम Subordinate Services Commission था। बाद में साल 1977 में एसएससी के नाम को बदलकर कर्मचारी चयन आयोग (Staff Selection Commission) कर दिया गया। एसएससी बोर्ड (SSC Board) मुख्य तौर पर भारत सरकार के विभिन्न विभागों के लिए ग्रुप बी और ग्रुप सी ग्रेड के लिए भर्तियाँ निकालती है।

पहले एसएससी बोर्ड (SSC Board) को Subordinate Services Commission के नाम से जाना जाता है। बाद में इसके नाम को बदलकर कर्मचारी चयन आयोग (Staff Selection Commission) कर दिया गया। एसएससी की स्थापना को 46 साल हो चुके हैं। वर्तमान में एसएससी के चेयरमैन (SSC Board Chairman) ब्रजराज शर्मा हैं। 9 दिसंबर 2015 को उन्होंने एसएससी के चेयरमैन (SSC Board Chairman) पद का पदभार ग्रहन किया था।

एसएससी का मुख्यालय (SSC Board Headquarter) नई दिल्ली में स्थित है। इसके अलावा एसएससी के कई क्षेत्रीय कार्यालय भी हैं। इलाहाबाद, मुंबई, कोलकाता, गुवाहाटी, चेन्नई, बंगलुरू में एसएससी बोर्ड के क्षेत्रीय कार्यालय हैं। इसके अलावा दो उप क्षेत्रीय कार्यालय रायपुर और चंडीगढ़ में है।

List of SSC Board Exam – SSC Board में कौन-कौन परीक्षाएं होती हैं?
  • CGL Exam – SSC Combined Graduate Level Exam
  • CHSL Exam – SSC Combined Higher Secondary Level Exam
  • Junior Engineer
  • Junior Hindi Translator
  • SSC Multitasking Staff
  • Central Police Organization
  • Stenographer C and D
  • SSC GD Constable
SSC Exam Name and Full Form
  1. SSC CGL – Combined Graduate Level Exam
  2. SSC CHSL – Combined Higher Secondary Level Exam
  3. SSC CPO – Central Police Organization
  4. SSC MTS – Multi Tasking Staff
  5. SSC JE – Junior Engineer
  6. SSC GD – General Duty
  7. SSC CAPF – Central Armed Police Forces

SCC में कौन-कौन से पोस्ट के लिए परीक्षा होते हैं?

एसएससी सीजीएल (SSC CGL Exam) – यह एक कंबाइंड ग्रेजुएट लेवल की परीक्षा होती है। इस परीक्षा में शामिल होने के लिए अभ्यर्थी को स्नातक उत्तीर्ण होना आवश्यक है। एसएससी सीजीएल की परीक्षा (SSC CGL Exam) पास करने के बाद उम्मीदवार को आयकर अधिकारी, ऑडिटर, शाद्य विभाग में अधिकारी के पदों पर नियुक्ति मिलती है।

यह भी पढ़ें -   MSME Full Form in Hindi - MSME की परिभाषा, Types और Benefits क्या है?

एसएससी सीएचएसएल (SSC CHSL Exam) – यह एक कंबाइंड हायर सेकेंडरी लेवल की परीक्षा होती है। यह परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद विभिन्न विभागों में लोअर डिवीजन क्लर्क या क्लर्क के पद पर नियुक्ति मिलती है। इस परीक्षा में बैठने के लिए उम्मीदवार को कम से कम 12वीं की परीक्षा पास होना चाहिए।

एसएससी जेई (SSC JE Exam) – यह भी एक कंबाइंड लेवल की ही परीक्षा होती है। लेकिन यह परीक्षा सिर्फ जूनियर इंजीनियर (Junior Engineers) पद के लिए होती है। इस परीक्षा में बैठने के लिए अभ्यर्थी को इंजीनियरिंग की डिग्री या फिर डिप्लोमा होना आवश्यक होता है। परीक्षा पास होने के बाद अलग-अलग विभागों में जूनियर इंजीनियर का पद मिलता है।

एसएससी जेएचटी (SSC JHT Exam) – यह परीक्षा ट्रांसलेटर के लिए होता है। जेएचटी का फुल फॉर्म जूनियर हिंदी ट्रांसलेटर होता है। जैसा कि नाम से पता चलता है कि यह एक ट्रांसलेटर का पद है। इसके लिए उम्मीदवार को हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओ का अच्छा ज्ञान होना चाहिए और दोनों ही भाषाओं में अच्छा ट्रांसलेशन आना चाहिए।

सीएपीएफ (SSC CAPF Exam) – यह परीक्षा केंद्रीय आर्म्ड फोर्सेज के लिए होता है। एसएससी सीएपीएफ परीक्षा (SSC CAPF Exam) का आयोजन देशभर में किया जाता है। इस परीक्षा को पास करने पर केंद्र सरकार के सेंट्रल आर्म्ड पुलिस फोर्सेज (Central Armed Police Forces) में नौकरी मिलती है।

एसएससी स्टेनोग्राफर (SSC Stenographer Exam) – यह परीक्षा स्टेनोग्राफर के पद के लिए होता है। एसएससी स्टेनोग्राफर की परीक्षा (SSC Stenographer Exam) पास करने के बाद उम्मीदवार को स्टेनोग्राफी से संबंधित पदों पर नियुक्ति दी जाती है।

एसएससी परीक्षा के लिए आयु सीमा – Age Limitation in SSC Exam

एसएससी परीक्षा (SSC Exams) में शामिल होने के लिए परीक्षार्थी को कम से कम 20 साल का होना चाहिए। पहले न्यूनतम उम्र सीमा 18 थी। वहीं अधिकतम उम्रसीमा में भी बढ़ोतरी की गई है। पहले एसएससी परीक्षा (SSC Exams) के लिए अधिकतम उम्र सीमा 27 थी जो अब 30 वर्ष कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें -   शहीद दिवस: शहीद भगत सिंह जैसे आजादी के उन मतवालों की कहानी
एसएससी परीक्षा का पैटर्न – SSC Exams Pattern
  1. जनरल इंटेलिजेंस में प्रश्नों की संख्या 25 होती है और अधिकतम अंक 50 होता है।
  2. जीके और सामान्य अध्ययन में 25 प्रश्न होते हैं और अधिकतम अंक 25 होता है।
  3. मात्रात्मक अंकगणित में प्रश्नों की संख्या 25 और अधिकतम अंक 25 होते हैं।
  4. अंग्रेजी भाषा (बेसिक) में प्रश्नों की संख्या 25 होती है। अधिकतम अंक अंग्रेजी भाषा में 25 होती है।

एसएससी परीक्षा की तैयारी करने का तरीका – SSC Exam Preparation

भारत में आयोजित होने वाले प्रतियोगी परीक्षाओं (Competitive Exams) में तैयारी का बहुत महत्व रहता है। राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित होने वाली परीक्षाओं में समयबद्ध तैयारी और धर्य से ही सफलता प्राप्त की जा सकती है। आइए जानते हैं कैसे एसएससी परीक्षा की तैयारी करें।

1. SSC Syllabus को जानें और उसी के अनुसार तैयारी करें। एसएससी परीक्षा के लिए उपलब्ध सिलेबस को अच्छी तरह से समझें और फिर तैयारी करें। सफलता निश्चित ही होगी।

2. SSC Syllabus को जानने के बाद अब उसके अनुसार Study Material जमा करें। आप कोचिंग में जाकर और इंटरनेट की मदद लेकर भी SCC Syllabus Study Material को जमा कर सकते हैं।

3. एसएससी परीक्षा (SSC Exams) में जिन सब्जेक्ट को सिलेबस में दिया गया है उन प्रत्येक सब्जेक्ट को ध्यान से अध्ययन करें। सभी सब्जेक्ट पर बराबर ध्यान दें। जिन सब्जेक्ट में आपको ज्यादा मेहनत की जरूरत हैं, अवश्य करें।

4. एसएससी परीक्षा पैटर्न (SSC Exams Pattern) को भी जानें। इसके लिए पिछली परीक्षाओं के पेपर्स को देखें। इससे आपको यह जानकारी मिलेगी कि किस स्तर का प्रश्न पूछा गया है और आपको तैयारी कैसे करनी है।

5. परीक्षा में जाने से पहले अच्छी तरह से तैयारी करें। नोट्स बनाएं। कोशिश करें कि आपने जो पढ़ा है उसका खुद से नोट्स बनाएं। इससे आपको सब्जेक्ट की जानकारी भी होगी और तैयारी भी बेहतर होगी। एग्जाम के समय यही नोट्स आपके बहुत काम आएंगे।


SSC Full Form और ऐसे ही अन्य दूसरे विषयों से संबंधित जानकारी के लिए बने रहें हन्ट आई न्यूज पर।