Mustard Oil Price Update: 160 वाला सरसों तेल मिल सकता है सिर्फ 96 में, जानिए कैसे?

Mustard Oil Price Update

Mustard Oil Price Update: पिछले दो-तीन सालों में सरसों के भाव में तेजी देखने को मिली है। इस वजह से किसान सरसों उगाने में ज्यादा रूचि ले रहे हैं। देश के अलग-अलग इलाकों में सरसों की खेती करने के लिए किसान आगे आ रहे हैं। लेकिन बिहार में सरसों की खेती करने वाले किसान परेशान हैं।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

सरसों की फसल तैयार होने वाली है और किसानों को मात्र ₹4200 प्रति क्विंटल के आसपास का भाव मिल रहा है। बता दें कि 3 किलो सरसों की पेराई करने के बाद 1 किलो सरसों का तेल (Mustard Oil Price Update) निकलता है। इस हिसाब से देखा जाए तो सरसों के तेल की कीमत (Mustard Oil Price Update) ₹126 का होता है। 3 किलो सरसों की पेराई का खर्च ₹10 के करीब आता है।

यह भी पढ़ें -   विशाखापट्टनम: मृतकों की संख्या हुई 8, पीएम मोदी बोले - मामले पर कड़ी निगरानी

इस प्रकार 1 किलो सरसों के तेल की कीमत (Mustard Oil Price Update) ₹136 हो जाता है। 3 किलो सरसों से 1 किलो तेल निकालने के बाद 2 किलो सरसों के अवशेष बचे रह जाते हैं। जिसका उपयोग जानवरों को खिलाने के लिए होता है। बिहार में इसे सरसों की खल्ली के नाम से जाना जाता है। इसका उपयोग विशेष तौर पर दुधारू पशुओं के खाने के लिए किया जाता है।

₹96 कैसे पड़ेगा सरसों का तेल?

सरसों की खली का भाव सरसों की तुलना में आधा होता है। इस प्रकार यदि इस साल सरसों की कीमत ₹42 है तो इसका मतलब है कि सरसों की खली का भाव ₹20 किलो के करीब होगा। 3 किलो सरसों में से 1 किलो तेल निकलने के बाद 2 किलो खली की कीमत ₹40 होगी। इस प्रकार ₹136 में 1 किलो मिलने वाला सरसों तेल सरसों की खली बिकने के बाद ₹96 का पड़ेगा।

यह भी पढ़ें -   नागरिक उड्डयन मंत्री ने किया ऐलान, देश में 25 मई से शुरू होगी घरेलू उड़ानें

ऐसे में जब आपको मात्र ₹96 में सरसों का शुद्ध तेल मिल जाता है। बाजार में जो सरसों का तेल हम लोग खरीदते हैं उसमें कई प्रकार की मिलावट होती है। मार्केट में अभी सरसों के तेल की कीमत 155 से 160 रुपए प्रति किलो के बीच चल रहा है।

देश के कई हिस्सों में सरसों की बंपर पैदावार

देश के कई हिस्सों में इस साल सरसों की पैदावार में उछाल आने की संभावना है। अनुमान है कि राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, उड़ीसा और बिहार के कई इलाकों में किसान बड़े पैमाने पर सरसों की खेती करते हैं। सरसों की पैदावार पिछले साल देश में 110 लाख टन हुआ था। इस साल सरसों की उपज 125 लाख टन होने की संभावना है।

यह भी पढ़ें -   सरकारी कार्यक्रम में तू-तू मैं मैं, कुंजवाल बोले हां मैं घमंडी हूं
Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Follow us on Google News

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।