LLM Full Form, Meaning, Eligibility and Courses in Hindi

LLM Full Form, Meaning, Eligibility, and Courses in Hindi

LLM Full Form, Meaning, Eligibility, and Courses in Hindi – वर्तमान समय में ज्यादातर लोग अच्छी नौकरी प्राप्त करने के लिए कई तरह के अलग-अलग कोर्स करते हैं। कुछ को वकील बनना होता है तो कुछ की पसंद डॉक्टर बनने की होती है। वकील बनने की चाहत रखने वालों के लिए एलएलएम कोर्स होता है जिसे करने के बाद सरकारी वकील का पद आसानी से प्राप्त किया जा सकता है।

एलएलएम क्या होता है? एलएलएम का फुल फॉर्म क्या होता है? तो आइए जानते हैं LLM Full Form को Hindi में। इसकी विस्तृत जानकारी नीचे दी जा रही है।

LLM Full Form in Hindi – हिंदी में एलएलएम का फुल फॉर्म जानिए

LLM का फुल फॉर्म “Master of Laws” होता है। “Master of Laws” एक मास्टर डिग्री है। यह डिग्री पेशेवर कानून की डिग्री प्राप्त करने वालों को प्रदान की जाती है। हिंदी में एलएलएम का फुल फॉर्म “मास्टर ऑफ लॉज” होता है।

एलएलएम (LLM) एक मास्टर यानी पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स होता है। किसी अन्य मास्टर कोर्स की तरह ही एलएलएम का कोर्स भी दो साल का होता है। ज्यादातर संस्थानों में इसे चार सेमेस्टर में विभाजित किया गया है। इसके अलावा अलग-अलग विश्वविद्यालयों में कोर्स की अवधि अलग-अलग होती है। जैसे बीएचयू (Banaras Hindu University) में एलएलएम कोर्स की अवधि (LLM Course Time Period) 4 साल की है।

यह भी पढ़ें -   Champaran Movement: गांधी जी के इस सत्याग्रह का ‘महात्मा’ से है गहरा संबंध

भारत में लॉ (Law) की डिग्री (Degree Advocate Act 1961) के अनुसार प्रदान की जाती है। यह संसद द्वारा पारित कानून है जिसमें Legal Education के तहत डिग्री दी जाती है। Degree Advocate Act 1961 के अधीन Bar Council of India भारत में कानूनी पेशे को विनियमित करने, देश में कानूनी पेशे के रखरखाव, जैसे मुद्दों के अनुपालन को सही तरीके से संचालित करवाने वाली सर्वोच्च नियामक संस्था है।

LLM Cource Elegibility – एलएलएम में दाखिले के लिए शैक्षिक योग्यता

एलएलएम (LLM) में प्रवेश लेने के लिए उम्मीदवार को किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से 10+2+5 के तहत एलएलबी या बीएल डिग्री या 5 वर्षीय एलएलबी डिग्री कोर्स के तहत लॉ स्नातक होना आवश्यक है। इसके अलावा इसमें वैसे अभ्यर्थी भी प्रवेश ले सकते हैं जिन्होंने पहले से ही एलएलबी की डिग्री ले रखी है। एलएलएम में कानून से संबंधित संपूर्ण जानकारी दी जाती है।

यह भी पढ़ें -   ग्वालियर का किला, इतिहास और संरचना - History of Gwalior Fort in Hindi
LLM Syllabus in India – भारत में एलएलएम का सिलेबस

एलएलएम की डिग्री को प्राप्त करने के लिए अभ्यर्थियों को चार सेमेस्टर में पढ़ाई करनी होती है। पहले सेमेस्टर में सामान्य पेपरों का पढ़ना होता है। सेकेंड सेमेस्टर में अभ्यर्थियों को स्वयं से कुछ विषयों को चुनाव करना होता है। एलएलएम की पढ़ाई में आंतरिक अंकों का प्रतिशत 60 और बाहरी अंकों का प्रतिशत 40 का होता है।

4 सेमेस्टर के एलएलएम कोर्स में क्रमश: व्याख्यान, सेमिनार, प्रस्तुतियां और ट्यूटोरियल शामिल किये जाते हैं। आंतरिक अंकों में मूल्याकन कैसा होगा यह छात्रों के प्रस्तुतिकरण, ट्यूटोरियल, सेमिनार, वाइवा, प्रोजेक्ट और असाइनमेंट में प्रदर्शन पर निर्भर करता है। आंतरिक परीक्षा 100 अंकों की होती है।

एलएलएम की पढ़ाई (Study of LLM) के दौरान छात्रों के लिए कई उपक्षेत्र उपलब्ध होते हैं जिनमें छात्र पढ़ाई कर विशेषज्ञता हासिल कर सकते हैं।
  1. Family Law
  2. Taxation Law
  3. Criminal Law
  4. Human Rights
  5. Jurisprudence
  6. Insurance Laws
  7. Environmental Law
  8. Constitutional Law
  9. Intellectual Property Law
  10. Corporate Law and Governance
  11. International Trade and Business Law
यह भी पढ़ें -   26 अगस्त का दिन इतिहास की नजर में क्यों महत्वपूर्ण है?
Benefits of LLM – LLM करने के क्या फायदे होते हैं?

एलएलएम कोर्स (LLM Course) करने के बाद छात्रों को कई अलग-अलग क्षेत्रों में वकालत करने की योग्यता प्राप्त हो जाती है। एलएलएम का कोर्स (Course of LLM) करने के बाद अभ्यर्थी Law Firms, Consultancy, Finance, Corporate, Media and Publishing Houses, Courthouses, Real Estate, Patent Attorney, Private Attorneys and Loire के रूप में कार्य कर सकते हैं।

Top LLM Intitutes in India – भारत के प्रमुख एलएलएम कराने वाले संस्थान
  1. Osmania University
  2. Jindal Global University
  3. Nulsar University of Law
  4. National law University
  5. Maharishi Dayanand University
  6. Hidayatullah National Law University
  7. Ram Manohar Lohia National Law University
  8. Rajiv Gandhi National University of Law
  9. Faculty of Law, Banaras Hindu University, Varanasi
  10. The West Bengal National University of Zuridical Sciences