अमेरिका में हंगामा, ट्वीटर की चेतावनी, हिंसा भड़काई तो हमेशा के लिए ट्रंप ब्लॉक होंगे

अमेरिका में हंगामा

अमेरिकी चुनाव में जो बाइडन की जीत और अपनी हार को ट्रंप स्वीकार नहीं कर पा रहे हैं। उनके समर्थक अब हंगामा करने लगे हैं। बुधवार को ट्रंप समर्थकों ने अमेरिका की कैपिटल बिल्डिंग में हंगामा किया। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इस हंगामे में अमेरिका की एक महिला की मौत हो गई।

बता दें कि हंगामा उस जगह पर हुआ है जहां नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन को चुनाव जीतने का सर्टिफिकेट दिया जाना था। चुनाव नतीजों को लेकर डोनाल्ड ट्रंप के बयान के बाद उनके समर्थकों और अमेरिकी पुलिस के झड़प हुई। झड़प हिंसक हो गई और गोली लगने से एक महिला की मौत हो गई।

यह भी पढ़ें -   यूएस नेवी डिस्ट्रॉयर पर पहुंचा कोरोना, एक चौथाई नौसैनिक कोरोना से प्रभावित

पूरी दुनिया में मशहूर माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर ने हिंसा के बाद डोनाल्ड ट्रंप का एकाउंट 12 घंटों के लिए बंद कर दिया। ट्विटर ने ट्रंप को चेतावनी देते हुए कहा कि 12 घंटों के लिए डोनाल्ड ट्रंप के अकाउंट को लॉक किया गया है। अगर अकाउंट पर पोस्ट की गई आपत्तिजनक ट्वीट नहीं हटाए गए तो यह हमेशा के लिए बंद रहेगा।

अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन ने इस हिंसा को राजद्रोह कहा है। हिंसा के बाद ट्विटर के सेफ्टी टीम ने अपने पेज पर लिखा, ‘वॉशिंगटन डी.सी. में जारी हिंसा की वजह से हमें डोनाल्ड ट्रंप के तीन ट्वीट हटाने पड़ रहे हैं, जिन्हें आज पोस्ट किया गया था। ये ट्वीट हमारी सिविक इंटिग्रिटी पॉलिसी का गंभीर रूप से उल्लंघन करते हैं।’

यह भी पढ़ें -   नीति आयोग से अरविंद पनगढ़िया ने दिया इस्तीफा, लौटेंगे शिक्षा क्षेत्र में वापस

बता दें कि अमेरिका में हुए राष्ट्रपति चुनाव के बाद ट्रंप को कम वोट मिले थे। उनके प्रतिद्वंदी डो बाइडन को वहां की जनता ने अपना मत देकर जीत दिलाई। हालांकि ट्रंप ने इस चुनाव में धांधली होने का आरोप लगाया और अपनी हार को स्वीकार करने से मना करते रहे।

अमेरिका में हुई इस घटना के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चिंता जाहिर किया। पीएम मोदी ने ट्वीट कहा, “वॉशिंगटन डीसी में हुई हिंसा की खबर से चिंतित हूं। सत्ता का हस्तांतरण नियमों और शांतिपूर्ण तरीके से जारी रहना चाहिए। लोकतांत्रिक प्रक्रिया में इस तरह की गैरकानूनी विरोध को स्वीकार नहीं किया जा सकता है।”

यह भी पढ़ें -   राष्ट्रपति ट्रंप 24 फरवरी को भारत दौरे पर आ रहे हैं, ट्रेड डील पर आशंका के बादल