इजरायल-फिलिस्तीन खूनी संघर्ष के बीच तनाव चरम पर, गाजा में 65 की मौत

इजरायल फिलिस्तीन खूनी संघर्ष

इजरायल और फिलिस्तीन के बीच खूनी संघर्ष लगाता बढ़ता जा रहा है। गाजा में मौत का आंकड़ा 65 तक पहुंच गया है। वहीं इजरायल ने अपने यहां 6 लोगों के मरने की पुष्टि की है। हालांकि खबरों में इजरायल में मरने वालों की संख्या 7 बताई जा रही है। गाजा के स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, इजरायल फिलिस्तीन खूनी संघर्ष के बीच गाजा में 16 बच्चों और पांच महिलाओं सहित मरने वालों की संख्या बढ़कर 65 तक पहुंच गई। 86 बच्चों और 39 महिलाओं सहित कम से कम 365 लोग घायल हुए हैं।

इजरायल के रक्षा मंत्री बेनी गैंट्स ने बुधवार शाम को कहा- हमारी सेना के गाजा पट्टी और फलस्तीन में हमले बंद नहीं होंगे। हम अब तब तक रुकने को तैयार नहीं हैं, जब तक दुश्मन को पूरी तरह शांत नहीं कर देते। इसके बाद ही अमन बहाली पर कोई बात होगी।

यह भी पढ़ें -   ईरान से तेल व्यापार कम करेगा भारत... दूसरे विकल्पों की तालाश जारी

इजरायली रक्षामंत्री के बयान के बाद आशंका जताई जा रही है कि हालात और खराब हो सकते हैं। उधर हमास के नेता हानिया ने कहा कि अगज इजरायल जंग बढ़ाना ही चाहता है तो हम भी रुकने को तैयार नहीं हैं। चरमपंथियों ने चेतावनी दी है कि वे इजरायलियों की जिंदगी नर्क कर देंगे।

इस बीच अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने दोनों पक्षों से शांति कायम करने और तनाव को कम करने की अपील की है। अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने इस बात पर चिंता जताई है कि कहीं स्थिति नियंत्रण से बाहर न हो जाए।

यह भी पढ़ें -   कोरोना का नया वेरिएंट बना काल, दुनिया के कई देशों में फैला, जानें सबकुछ

अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नेड प्राइस ने कहा कि इजरायल को अपनी रक्षा करने का अधिकार है, लेकिन फ़लस्तीनी लोगों को अपनी सुरक्षा का अधिकार है। जर्मनी ने भी कहा है कि इजरायल को अपनी रक्षा करने का अधिकार है। जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल के प्रवक्ता स्टीफन सीबेरट ने कहा कि गाजा से इजरायल पर हो रहे हमले की हम कड़ी निंदा करते हैं। इसे कहीं से भी उचित नहीं ठहराया जा सकता।