ईरान से तेल व्यापार कम करेगा भारत… दूसरे विकल्पों की तालाश जारी

नई दिल्ली। अमेरिका की धमकी और ईरान पर नए प्रतिबंधों के बाद भारत सरकार ने दूसरे विकल्पों की तालाश शुरू कर दी है। जानकारी के मुताबिक, भारत ईरान के कच्चे तेल का आयात करने पर विचार कर रहा है। अमेरिकी सरकार की तरफ से लगाए गए नए प्रतिबंधों के बाद भारत ने ईरान के तेल खरीद में कमी लाने का संकेत दिया है।

अधिकारियों के मुताबिक, भारत ने ईरान से कच्चे तेल की खरीद को घटाने पर विचार कर रहा है। इसके बाद भारत सऊदी अरब और कुवैत से कच्चे तेल का आयात बढ़ाने पर विचार कर रहा है।

बता दें कि अमेरिका ने भारत और चीन के साथ-साथ दुनिया के सभी देशों को धमकी देते हुए कहा है कि ईरान से 4 नवंबर तक कच्चे तेल की खरीद पूरी तरह से बंद करने को कहा है। हालांकि अधिकारियों के मुताबिक, यह पूरी तरह से व्यवहारिक नहीं है।

हालांकि अमेरिकी सरकार की तरफ लगाए गए इस प्रतिबंध पर कोई अंतिम विचार नहीं किया गया है। लेकिन मंत्रालय ने रिफाइनरी कंपनियों से सतर्कता बरतने और अन्य विकल्पों पर विचार करने को कहा है।

इराक और सऊदी अरब के बाद ईरान भारत का तीसरा सबसे बड़ा तेल आपूर्तिकर्ता है। साथ ही अधिकारी ने कहा कि पश्चिम एशिया विशेषकर सऊदी अरब और कुवैत से उच्च सल्फर वाला कच्चा तेल आसानी से ईरानी तेल की जगह ले सकता है।

खबरों के मुताबिक, निजी क्षेत्र की 2 बड़ी कंपनियों रिलायंस इंडस्ट्रीज और रूस के रोसनेफ्ट के मालिकाना वाली न्यारा कंपनियों ने ईरान से तेल के आयात पर कमी लाना शुरू कर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *