संसद पर हमला से चर्चा में आए डीएसपी और आतंकियों के बीच हुई थी 12 लाख की डील

संसद पर हमला

नई दिल्ली। संसद हमले से चर्चा में आए, कश्मीर के कुलगाम में दो आतंकियों के साथ पकड़े गए डीएसपी देविंदर सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है। पूछताछ में सामने आया है कि डीएसपी और आतंकियों के बीच 12 लाख में डील हुई थी। इसके बदले में वह आतंकियों को सुरक्षित चंडीगढ़ ले जाने वाला था।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

डीएसपी ने अपने मंसूबों को अंजाम तक पहुंचाने के लिए बकायदा 4 दिनों को छुट्टी भी ली थी। जम्मू-कश्मीर पुलिस और आतंकियों के बीच इस गठजोड़ से सुरक्षा एजेंसियों में चिंता बढ़ गई है। ऐसे में अब आइबी और रॉ जैसी केंद्रीय एजेंसियों की संयुक्त जांच इस हरकत की गांठ खुलेगी।

यह भी पढ़ें -   जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमला, दो CRPF जवान शहीद
संसद पर हमला में भी उछला था देविंदर सिंह का नाम

खबरों के मुताबिक, कुख्यात आतंकियों के लिए हथियारों की डील का जिम्मा भी इसी डीएसपी के पास ही था। फिलहाल इस मामले में सुरक्षा एजेंसियां पूछताछ कर रही है, संभावना है कि पूछताछ के बाद कई बड़े मामले का खुलासा हो सकता है। बता दें कि डीएसपी देविंदर सिंह का भारतीय संसद पर हमला होने के बाद भी सामने आया था।

संसद पर हमला
डीएसपी देविंदर सिंह (जम्मू-कश्मीर पुलिस)

रविवार को राज्य पुलिस के महानिरीक्षक विजय कुमार ने कहा कि डीएसपी देविंदर सिंह ने बहुत ही जघन्य अपराध किया है। डीएसपी श्रीनगर एयरपोर्ट जैसे अति संवेदनशील जगह पर तैनात था। हालांकि विजय कुमार ने कहा कि इसके लिए पूरी पुलिस को दोषी नहीं माना जा सकता।

यह भी पढ़ें -   Article 370 और 35A खत्म, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख बना दो प्रदेश

मीडिया खबरों के मुताबिक, नवीन ने रवाना होने से पहले अपने भाई को फोन किया था। फोन पहले से ही सुरक्षा एजेंसियों के सर्विलांस पर था। जिसके बाद पुख्ता सबूत के आधार पर वाहन को रोका गया।

बताया जा रहा है कि आतंकी नवीद पुलिस का भगौड़ा था। वह साल 2017 में हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हो गया था। गृह मंत्रालय चाहता है कि ऐसे अधिकारियों की पहचान की जाए जो आतंकियों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। इसलिए पुलिस विभाग के अधिकारियों की स्क्रीनिंग होगी।

संसद पर हमला होने के बाद आया था नाम

बता दें कि इससे पहले जम्मू-कश्मीर पुलिस के अधिकारी देविंदर सिंह का नाम संसद हमले के बाद भी चर्चा में आया था। अफजल ने दावा किया था कि कार देविंदर सिंह ने ही उपलब्ध करवाई थी। हालांकि पुलिस महानिरीक्षक कश्मीर विजय कुमार ने इस बात से इंकार किया है। उन्होंने कहा कि हमारे पास इस बारे में कोई जानकारी नहीं है।

यह भी पढ़ें -   कोरोनावायरस हुआ और खतरनाक, अब हवा के जरिए फैल रहा है संक्रमण
Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Follow us on Google News

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।