पीएम मोदी के अरुणाचल दौरे से चिढ़ा चीन, कहा- इस विवादित क्षेत्र में भारतीय नेता का दौरा सही नहीं

china-threatens-to-enter-kashmir

इटानगर। भारतीय पीएम नरेंद्र मोदी के अरुणाचल दौरे से चीन चिढ़ गया है। चीन ने इस दौरे का विरोध किया है। चीन ने दौरे पर कहा कि किसी भी भारतीय नेता को इस विवादित क्षेत्र का दौरा नहीं करना चाहिए। चीन ने इस मुद्दे पर भारत के समक्ष विरोध जताने की बात कही है। बता दें कि चीन अरुणाचल प्रदेश को दक्षिण तिब्बत का हिस्सा मानता है। हालांकि फिलहाल यह क्षेत्र भारत में है।

चीन ने कई बार इस क्षेत्र पर अपना दावा ठोकता आया है। वह तिब्बती धर्मगुरु दलाई लामा की तिब्बत यात्रा को भी लेकर विरोध जताता रहा है। चीनी विदेश मंत्रालय ने इस मुद्दे पर गुरुवार को कहा कि भारत-चीन के बीच सीमा के सवाल को लेकर चीन का रुख स्पष्ट है। उन्होंने कहा कि चीन सरकार कभी भी अरुणाचल प्रदेश को मान्यता नहीं दी है। चीन इस क्षेत्र को विवादित मानता है और किसी भारतीय नेता के यात्रा का विरोध करता है।

यह भी पढ़ें -   Pakistan in Punjab! केंद्र सरकार ने सेना और बीएसएफ को जारी किया रेड अलर्ट

कश्मीर में CRPF कैंप हमला, पाक ने फिर तोड़ा सीजफायर

चीन की सरकारी न्यूद एजेंसी शिन्हुआ के हवाले कहा गया है कि हम इस मुद्दे को लेकर भारत के समक्ष विरोध प्रकट करेंगे। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग ने कहा कि सीमा विवाद को लेकर भारत और चीन एक स्तर सहमति बना चुके हैं ताकि विवाद को सही तरीके से सुलझाया जा सके। उन्होंने कहा कि दोनों पक्ष आपसी बातचीत के जरिये इस विवाद का हल निकालने की कोशिश कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें -   ईरान से तेल व्यापार कम करेगा भारत... दूसरे विकल्पों की तालाश जारी

गेंग ने कहा कि चीन भारत से अनुरोध करता है कि उसे अपनी प्रतिबद्धता का सम्मान करना चाहिए और सीमा विवाद को लेकर दोनों देशों के बीच जो सहमति बनी है उसपर खड़े रहना चाहिए। साथ ही किसी ऐसी कार्रवाई से बचना चाहिए जिससे सीमा विवाद और न उलझे।

यह भी पढ़ें:

ग्लैमर की दुनिया की ये महिला कलाकार जिन्होंने खुदकुशी कर ली

AI टेक्नोलॉजी के साथ ओप्पो A71 लॉन्च

यह भी पढ़ें -   डोकलाम पर भारत की बड़ी जीत, डोकलाम से पीछे हटी चीनी सेना

एक विरासत: आधुनिक भारत के प्रथम राष्ट्रपति भारतरत्न डॉ राजेंद्र प्रसाद


मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्विटरगूगल प्लस पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *