बुधवार को किस देवता की पूजा की जाती है? जानिए व्रत करने के फायदे और नियम

बुधवार व्रत के फायदे

हमारे धर्म शास्त्रों में प्रत्येक दिन को किसी ना किसी देवता को समर्पित किया गया है। सप्ताह का प्रत्येक दिन किसी ना किसी खास देवता के लिए होता है। बुधवार का दिन का भी महत्व बहुत ही अधिक है और जो व्यक्ति बुधवार का व्रत करता है उसके जीवन में कभी भी धन संबंधी परेशानियां नहीं आती है। क्या आप जानते हैं कि बुधवार को किस देवता की पूजा की जाती है? बुधवार का व्रत करने के फायदे क्या होते हैं और इसके क्या नियम है?

बुधवार को किस देवता की पूजा होती है?

बुधवार के दिन भगवान गणेश जी की पूजा की जाती है। जो लोग भगवान गणेश की पूजा करते हैं और उन्हें अपना इष्ट मानते हैं, उनके लिए बुधवार के दिन का महत्व बहुत ही अधिक होता है। भगवान गणेश की पूजा करने से व्यक्ति को धन संबंधी परेशानियां कभी नहीं सताती है।

कई लोग बुधवार का व्रत भी करते हैं और भगवान गणेश की पूजा भी करते हैं। ऐसे में यह जानना बहुत ही जरूरी हो जाता है कि बुधवार का व्रत करने के क्या फायदे होते हैं और इन्हें नियम पूर्वक कैसे करना चाहिए? आइए जानते हैं बुधवार व्रत करने की विधि और इस से होने वाले फायदे के बारे में।

बुधवार व्रत की पूजा विधि

बुधवार का व्रत करने से पहले यह जान लें कि यदि आप बुधवार व्रत स्टार्ट करते हैं तो कम से कम 7 बुधवार तक इसका व्रत करना चाहिए। बुधवार व्रत की शुरुआत महीने के शुक्ल पक्ष से करना श्रेष्ठ माना जाता है। बुधवार के अलावा किसी अन्य प्रकार का व्रत भी पितृ पक्ष में नहीं करना चाहिए। इसके अलावा खरमास के महीने में भी किसी व्रत को स्टार्ट नहीं करना चाहिए।

यह भी पढ़ें -   सुबह कौवा का बोलना देता है कुछ खास संकेत, जानें इससे जुड़ी मान्यताएं

बुधवार व्रत को करने से पहले बुधवार की सुबह स्नान ध्यान से निवृत्त होकर तांबे के पात्र में भगवान गणेश जी की मूर्ति को सबसे पहले स्थापित करें।

इस बात का ध्यान रखें कि भगवान गणेश की मूर्ति के मुख की दिशा पूर्व की तरफ हो। यदि आपके लिए भगवान गणेश की मुख की दिशा पूर्व की ओर करना संभव नहीं हो तो उसे उत्तर की दिशा की तरफ कर सकते हैं। दक्षिण और पश्चिम दिशा की तरफ भगवान की प्रतिमा का मुख करके पूजा नहीं करनी चाहिए।

अब आसन पर बैठकर भगवान गणेश जी को फूल चढ़ाएं। फूल चढ़ाने के बाद धूप और दीप अर्पित करें तथा चंदन और कपूर से पूजा अर्चना करें। इसके अलावा पूजा में दूर्वा भी अर्पित करना चाहिए। पूजा में दूर्वा को अर्पित करना बहुत ही शुभ माना जाता है।

इसके बाद गणेश जी को मोदक अर्पित करना चाहिए। भगवान गणेश को मोदक अत्यंत प्रिय है। भगवान गणेश की पूजा में मोदक का भोग लगाने से वह जल्दी प्रसन्न हो जाते हैं। मोदक अर्पित करने के बाद पूर्ण रूप से श्रद्धा और भाव से भगवान गणेश का ध्यान करते हुए 108 बार ॐ गं गणपतये नमः मंत्र का जाप करना चाहिए।

यह भी पढ़ें -   Basant Panchami पर रखें इन बातों का ध्यान, माँ सरस्वती रहेंगी प्रसन्न

बुधवार व्रत करने के नियम

किसी भी व्रत को करने से पहले उनके नियम जानने बहुत जरुरी होते हैं। हालांकि नियम से ज्यादा श्रद्धा और भाव महत्वपूर्ण होता है लेकिन नियम पूर्वक किया गया कार्य में सफलता मिलने की संभावना अधिक होती है।

यदि आप बुधवार का व्रत कर रहे हैं तो इस बात का ध्यान रखें कि बुधवार के दिन नमक का प्रयोग नहीं करें।

बुधवार के दिन भगवान गणेश को घी तथा गुड़ का भोग लगाना चाहिए। भगवान गणेश को घी और गुड़ का भोग लगाने के बाद उसे गाय को खिलाना चाहिए।

बुधवार का व्रत यदि आप कर रहे हैं तो इस दिन बुधवार व्रत की कथा और आरती जरूर करें। ऐसा करने से पूजा का पूर्ण फल प्राप्त होता है।

बुधवार के व्रत में हरे रंग का वस्त्र पहनना उचित माना जाता है। ऐसी मान्यता है कि बुधवार का व्रत करने वक्त हरा रंग का प्रयोग करना चाहिए।

बुधवार व्रत करने के लाभ

किसी भी व्रत को करने के लाभ अवश्य होते हैं। यह व्यक्ति के विश्वास और श्रद्धा पर निर्भर करता है कि वह अपने कर्मों से कितना फल प्राप्त कर सकता है। ईश्वर अपने भक्तों को कभी भी नाराज नहीं करते और श्रद्धा पूर्वक किया गया कार्य का पूर्ण फल प्रदान करते हैं।

यह भी पढ़ें -   शुक्रवार को क्या दान करना चाहिए? समृद्धि के लिए करें इस चीज का दान

ऐसी मान्यता है कि बुधवार का व्रत करने वाले लोगों के जीवन में कभी भी सुख, शांति और यश की कमी नहीं होती है। भगवान गणेश उनके घर और जीवन में हमेशा ही खुशियां देते रहते हैं।

इस व्रत को करने से व्यक्ति के जीवन में पैसों की तंगी नहीं होती है और घर में हमेशा ही अन्न के भंडार भरे रहते हैं।

बुधवार के दिन भगवान गणेश की पूजा करने से जीवन में कभी कष्ट नहीं होते। भगवान गणेश को पूजने से माता लक्ष्मी भी काफी प्रसन्न होती हैं।

बुधवार के दिन बुध ग्रह की पूजा करने से और बुधवार का व्रत करने से कुंडली में बुध ग्रह की उपस्थिति शुभ जगह पर होती है। ऐसा होने से बुध ग्रह व्यक्ति को शुभ फल प्रदान करते हैं।

बुधवार का व्रत करने से कभी भी घर में धन-धान्य की कमी नहीं होती है। जिस व्यक्ति के जीवन में कमाया हुआ धन नहीं रुकता है, उन्हें बुधवार का व्रत करना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि कमाया हुआ धन यदि आपका व्यर्थ जा रहा है तो बुधवार का व्रत करने से यह रुक जाता है।

नोट- यह जानकारी धार्मिक मान्यताओं पर आधारित है। हमारा उद्देश्य सिर्फ जानकारी देना है। इस विषय में विस्तृत जानकारी के लिए संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ से ही संपर्क करें।


देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं। खबरों का अपडेट लगातार पाने के लिए हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें।